गयी थी टट्टी करने आ गयी चुदवा के

गयी थी टट्टी करने आ गयी चुदवा के

नमस्कार दोस्तों, कैसे हैं आप सभी ? उम्मीद करती हूँ कि आप सभी मस्त होंगे और अपनी चुदाई क्रिया में लींन होंगे | मेरा नाम चंदो है और मैं थार में रहती हूँ | मैं एक 21 साल कि कुंवारी लड़की हूँ और सच कहती हूँ कि मेरा रंग बहुत काला है | मेरा फिगर भी अच्छा नही है और मैं पतली दुबली लड़की हूँ | आज जो मैं कहानी लिखने जा रही हूँ | ये मेरे जीवन की एक दम सच्ची घटना है | इस कहानी को आप पढेंगे तो आप समझ जाओगे कि मेरे साथ क्या हुआ ? तो अब मैं अपनी कहानी शुरू करती हूँ |

आप सभी जानते हैं कि थार में कितनी गर्मी रहती है | वहां पानी कि समस्या भी बहुत रहती है | हम लोग कभी कभी ही नहाते हैं | जब हम टट्टी करने जाते हैं तो बस एक ही लोटा पानी ले के जाते हैं | कई बार तो मेरे लोटे का पानी गिर जाता था तो मैं गांड में छपी टट्टी भी साफ़ नहीं करती थी और ऐसे ही चड्डी पहन लेती थी | टट्टी करने भी हमे बहुत दूर जाना पड़ता था | क्यूंकि दूर दूर तक सिर्फ खुला मैदान ही होता था | मुझे चुदाई करवाने का बहुत शौक है | मैं हमेशा सोचती थी कि काश मैं कुछ करने जाऊ और कोई चोद दे मुझे | पर हर बार बस मैं टट्टी करके गांड धो के चली आती थी |

एक दिन कि बात है सुबह के 4:23 बज रहे थे और मुझे जोर से टट्टी लगी थी | मुझे इतनी जोर से टट्टी लगी थी कि बस मैं टट्टी करना चाहती थी तो मैं लोटा भी नही ले गयी | रास्ते में मुझे इतनी जोर से टट्टी लगी कि थोड़ी सी चड्डी में हो गयी पर तब भी मैं चले जा रही थी अपनी गांड को सिकोड़ते हुए | जब मुझसे टट्टी रोकी नहीं जा रही थी तो मैंने सोचा कि अब यही कर लेती हूँ | वैसे भी कौन सा यहाँ कोई इतनी सुबह आने वाला है | तो मैंने अपना पायजामा उतारा और चड्डी भी जिसमे थोड़ी सी टट्टी लगी थी | फिर मैंने कुर्ते को ऊपर किया और टट्टी करने बैठ गयी | सच कहती हूँ दोस्तों जो मजा टट्टी करने में है वो किसी और मैं नहीं | टट्टी करते करते फिर मैं सोचने लगी कि काश कोई चोद दे | टट्टी करते करते मैं अपनी चूत भी सहलाते जा रही थी | जब टट्टी कर ली तो मैं उठते हुए चड्डी( जिसमे छपी हुई थी ) पहनने को हुई | तभी अचानक पीछे से किसी ने मेरी चड्डी खीच ली मैंने पलट कर देखा तो सामने रौंगा था | रौंगा एक बदमाश लड़का था जो कि हर दिन नयी चूत की तलाश में निकलता था | वो बहुत अच्छे से जानता था कि सुबह टट्टी करने बहुत सारे लोग उसी के इलाके में आते है तो वो यहाँ कि तकदारी करता है |

मैंने उससे कहा कि क्यूँ रे रौंगा मेरी चड्डी छोड़ क्यूँ पकड़ा है तूने ? चड्डी फट जायगी मेरी | रौंगा ने जवाब दिया फट जाये तो फट जाये तू मेरे इलाके में टट्टी करने क्यूँ आई ? तो मैंने कहा कि देख रौंगा मुझे बहुत जोर से टट्टी लगी थी तो मैं बैठ गयी | तुझे दिक्कत है तो चोद ले मुझे और जाने दे ज्यादा बकवास मत कर | तो उसने कहा कि मादरचोद तुझे तो चोदुंगा ही | और मुझे पकड़ कर एक टीले की आड़ में ले गया | अब वो अपने होंठ मेरे होंठ में रख कर किस करने लगा और मेरे होंठ को चूसने लगा | ( मैं तो हूँ ही चुदक्कड़ लड़की और चाहती भी थी कि कोई मुझे चोद दे जो आज मेरी मनोकामना पूरी होती नजर आ रही थी ) मैं भी उसका साथ देने लगी और उसके होंठ को अपने होंठ से मसलते हुए चूस रही थी | कुछ देर किस करने के बाद उसने मेरे कुरते को उतार दिया और मेरी ब्रा भी खोल दिया | अब वो मेरे छोटे छोटे दूध को दबाने लगा | मैं तो मदहोश हो गयी और आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए अपने दूध दबवा रही थी | दूध दबाने के बाद वो मेरे निप्पल्स को चूसने लगा और मैं आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए उसके सिर पर हाँथ फेर रही थी | वो मेरे निप्पल्स चूसते चूसते मेरे दूध भी दबा रहा था | कुछ देर दूध पीने के बाद उसने अपना पायजामा भी उतार दिया | उसका लंड काफ़ी अच्छा था क्यूंकि लम्बा था | मैं घुटनों के बल बैठ कर उसके लंड को चाटने लगी तो वो मेरे सिर को पकड़ के आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करने लगा | कुछ देर उसके लंड को चाटने के बाद मैंने उसके लंड को अपने मुंह में ले कर चूसने लगी तो वो आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए मेरे मुंह को चोदने लगा |

मुझे लंड चूसने में बहुत मजा आ रहा था | मैं उसके लंड को गले तक ले रही थी | अब मैं उसके लंड को जोर जोर से चूसने लगी तो वो भी जोश में आ कर आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए मेरे मुंह की जोर जोर से चुदाई करने लगा | मैंने उसके लंड को 10 मिनट तक खूब चूसा था | सूरज भी धीरे धीरे निकलने लगा था | अपनी गर्मी से वो हमे भी गरम करने लगा था | रौंगा ने मुझे कपड़ो को बिछा कर लेटा दिया | अब वो मेरी चूत को चाटने लगा और मैं आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए अपनी चूत चटाई के मजे ले रही थी |

वो बहुत ही अच्छे से मेरी चूत को चाट रहा था और मैं उसके सिर को अपनी चूत में दबा रही थी और आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ कर रही थी | वो मेरी चूत के अन्दर जीभ डाल डाल कर चाटने लगा और चूत के दाने को अपने होंठ से पकड के चूसने लगा | मैं मदहोशी के आलम में आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए गांड उठा उठा के चूत चटवा रही थी | कुछ देर मेरी चूत चाटने के बाद उसने अपने लंड को मेरी चूत में टिका दिया | मैं अब चुदने वाली थी इसलिए मेरी चूत गीली हो कर उसके लंड के स्वागत के लिए तैयार थी | उसने एक ही झटके में अपने लंड को मेरी चूत में पेल दिया | अब वो मेरी चूत को चोदने लगा और मैं आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए अपने छोटे छोटे दूध को मसलने लगी | मैं आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए कह रही थी कि जोर जोर से चोदो मेरी चूत को | तो उसने कहा कि हाँ तू तो है ही मादरचोद रंडी तुझे तो चोद के माँ बना दूंगा | अब उसने अपनी चोदने के स्पीड बढ़ा दी और मेरी चूत को जोर जोर से चोदने लगा | मैं आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए अपने दूध को मसलने लगी | करीब 20 मिनट की चुदाई के बाद उसने अपने लंड से निकले हुए ज्वाला को मेरी चूत में ही उड़ेल दिया |

उसके बाद वो अपने कपडे पहन के वहां से निकल गया | मैं भी अपने कपडे पहनी और अपने घर की तरफ जाने लगी | तभी रास्ते में मुझे लसाटा मिला | उसने भी मुझे चोदने के लिए कहा तो मैंने कहा कि देख लसाटा मैं अभी ही चुदवा कर आ रही हूँ | अगर तू मुझे चोदना चाहता है तो तू कल मुझे सुबह चोद लेना जब मैं टट्टी करने आउंगी | तो उसने कहा ठीक है पर कल तू अगर नहीं चुदवायगी तो मैं सबको बता दूंगा कि तूने रौंगा से चुदवाई है | बस इतनी बात हुई और मैं घर आ गयी | अगले दिन मैंने फिर लसाटा से भी अपनी चूत की चुदाई करवा ली | अब मैं रोज ही किसी ना किसी से चुदवा ही लेती हूँ |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *