5 हज़ार से लाखो तक का सफ़र

5 हज़ार से लाखो तक का सफ़र

sex stories in hindi, desi sex kahani

हाय फ्रेंड्स, कैसे हैं आप लोग ? मैं उम्मीद करता हूँ कि सभी भले चंगे होंगे | मेरा नाम गौरव है और मैं ऊटी का रहने वाला हूँ | मेरी उम्र 25 साल है और मैं अभी जॉब करता हूँ प्राइवेट | मैं दिखने में काला हूँ और मेरी हाईट 5 फुट 11 इंच है और मेरा बदन गठीला है | दोस्तों मैं इस चुदाई की साईट का बहुत बड़ा फैन हूँ और मुझे चुदाई की कहानियां पढ़ना बहुत पसंद हैं | मैं रोज ही कहानियां पढ़ कर सीख लेता हूँ कि कैसे चुदाई को और मजेदार बनाया जाए | वैसे फ्रेंड्स, आज जो मैं आप लोग के सामने अपनी कहानी लिखने जा रही हूँ ये मेरी पहली कहानी है और मेरे जीवन की सच्ची घटना है | मैं उम्मीद करता हूँ कि आप लोग को मेरी कहानी जरुर अच्छी लगेगी और आप ओगो को मजा भी आएगा | तो अब मैं आप लोगो का वक़्त बर्बाद ना करते हुए अपनी कहानिया पर आता हूँ |

दोस्तों घटना तीन साल पहले की है | मेरे घर में, मम्मी पापा, दो बड़े भाई रहते हैं, सबसे बड़े वाले भैया की शादी हो चुकी है तो उनकी एक वाइफ और दो बेटे हैं | मेरे पापा सरकारी नौकरी करते हैं और मम्मी हाउसवाइफ हैं | एक भैया दिल्ली में जॉब करते हैं और सबसे बड़े वाले भैया पुलिस में हैं |  कॉलेज की पढाई खत्म करने के बाद मैंने सोचा कि कहीं जॉब कर लिया जाए तो मैं जॉब ढूँढने लगा | फिर एक जगह मुझे नौकरी मिल गई तो मैं वहां काम करने लगा था | वहां पर मेरा काम बस इतना था कि जितना भी सामान आता है उसका हिसाब और जितना माल जाता है उसका हिसाब | ले दे कर मुझे हाँथ में 5000 रुपय तक मिल जाते थे | इससे मेरा खर्च तो चल ही जाता था | मुझे वहां पर काम करते हुए एक साल हो चुका था और मेरे सेठ मुझे पर बहुत भरोसा करते थे क्यूंकि मैं कभी कोई गलत काम नहीं करता था और मैं कभी कोई चिंदी चोरी नहीं किआ था | एक दिन उन्होंने मुझसे कहा कि यार यहाँ से तुम्हे माल ले कर उड़ीसा तक जाना है जा पाओगे क्या ? तो मैंने कहा हाँ सेठ जी जब आपको –मुझपे इतना भरोसा है तो मैं आपको निराश नहीं करूँगा |

मैं सामान ले कर निकल जाऊँगा | सेठ जी ने भी मेरी ट्रेन की टिकेट करवा दिए और मुझे रस्ते के खर्च के लिए एक हज़ार रूपए भी दे दिए थे | उसके बाद मैंने ट्रेन में चला गया सामान ले कर और फिर जब मैं उड़ीसा पंहुचा तो जिस पते पर मुझ को जाना था वो मैं पूछते हुए चला गया | जैसे ही मैं उनके घर के सामने पंहुचा तो मेरी साँसे ही अटक गई | इतना बड़ा घर था उनका और इतने सारे नौकर चाकर देख कर तो मैं दांग रह गया | फिर वहां के चौकीदार से मैंने कहा भैया यहाँ मुझे सामान पंहुचाना था | तो उसने अन्दर जा कर बात किया और फिर मुझे अन्दर आने की इजाजत दे दिया | जब मैं अन्दर गया तो एक मस्त और सुन्दर भाभी आई | जिसकी उम्र लगभग 31 साल होगी | वो दिखने में गोरी और इतनी अच्छी हाईट और उसका फिगर भी इतना गदराया हुआ था कि उसे देख कर ही मेरा लंड खड़ा हो गया | उसके बाद उसने मुझे अन्दर बुलाई और अपने हॉल में ले जा कर बैठने को कहा | मैं भी बैठ गया और सामान नीचे रख दिया | उसके बाद वो मेरे लिए पानी ले कर आई तो मैंने कहा अरे आप क्यूँ परेशान हो रही हैं | तो उसने कहा अरे कोई बात नहीं | फिर मैंने पानी पिया तो वो मेरे बारे में पूछने लगी | मैंने उन्हें सब बता दिया जो जो उन्होंने पुछा | उसके बाद वो मेरी पर्सनल लाइफ के बारे में पूछने लगी तो वो भी मैंने उन्हें सब बता दिया | उसके बाद उन्होंने कहा कि चलो ठीक है एक काम करो मेरे पीछे आओ और ये सामान रख देना | मैंने कहा ठीक है मालकिन | मैं उसके पीछे पीछे जाने लगा |

जब मैं वहां गया तो देखा की इतना सुनहरा रूम | उसने कहा सामान यहाँ ही रख दो | जैसे ही मैंने सामान रखा तो उसने कहा सुनो ये लो 20000 रूपए | मैंने कहा ये किस लिए ? तो उसने कहा तुम्हे मेरे साथ सेक्स करना होगा | ये उसकी ही रकम है | मैं समाज गया कि दाल में कुछ काला है | उसने मुझसे कहा कि अगर आज तुमने मुझे खुश कर दिया तो मैं तुम्हारी लाइफ बना दूँगी | मैं भी राज़ी हो गया और तुरंत ही उसको अपनी बांहों में भर लिया | उसके बाद मैंने उसके होंठ से अपने होंठ को लगा दिया और उसके होंठ को चूसने लगा | वो भी मेरा साथ देते हुए मेरे होंठ को चूसने लगी | मैं उसके होंठ को चूसते हुए उसके मस्त चूतड भी दबा रहा था और वो मेरे होंठ को चूसते हुए मेरे चेहरे को सहला रही थी | हम दोनों ने एक दूसरे के होंठ को काफी देर तक चूसा | उसके बाद मैंने उसके टॉप को निकाल दिया और ब्रा के ऊपर से ही उसके दूध को मसलने लगा तो उसके मुंह से आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह की सिस्कारियां निकलने लगी | फिर मैंने ब्रा को भी उतार कर उसे ऊपर से पूरी नंगी कर दिया और उसके दूध को अपने मुंह में ले कर चूसने लगा और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मेरे चेहरे को सहलाने लगी | मैं उसके दूध को बहुत जोर जोर से मसलते हुए चूस रहा था और निप्पलस पर अपनी जीभ से भी चाट रहा था और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए सिस्कारियां ले रही थी | फिर मैंने उसकी जीन्स को उतार दिया और उसकी पेंटी भी | अब वो मेरे सामने पूरी नंगी थी |

फिर मैंने अपनी जीभ से उसकी चूत को चाटने लगा टांग को फैला कर और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मस्त सिस्कारियां लेने लगी | मैं उसकी चूत को जीभ से रगड़ते हुए चाट रहा था और ऊँगली से चोद भी रहा था और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए अपने दूध को मसल रही थी | फिर उसने मेरी टी-शर्ट को उतार दी और मेरे सीने पर हाँथ फेरते हुए अपने घुटनों के बल जमीन पर बैठ गई और मेरे जीन्स को उतार दी | वो मेरे लंड को अंडरवियर के ऊपर से ही मसलने लगी और थोड़ी देर के बाद उसने मेरी अंडरवियर को भी फाड़ कर मुझे भी नंगा कर दी |

उसके बाद वो मेरे लंड पर अपनी जीभ फेरते हुए सहलाने लगी तो मेरे मुंह से भी आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह की सिस्कारियां निकलने लगी | वो मेरे लंड पर अपनी जीभ फेरते हुए हर हिस्से को चाट कर गीला कर रही थी और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए उसके बालो को समेट रहा था | उसके बाद उसने मेरे लंड को अपने मुंह में ले कर चूसने लगी और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मजे लेने लगा | वो मेरे लंड को जोर जोर से आगे पीछे करते हुए चूस रही थी और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए सिस्कारियां ले रहा था | मेरे लंड को चूसने के बाद उसने मेरे दोनों गोटों को अपने मुंह में ले कर चूसने लगी और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए अपने लंड को उसके गाल पर मारने लगा | फिर मैंने अपने लंड को उसकी चूत में तैनात किया और अन्दर घुसेड कर चोदने लगा और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मचलने लगी | कुछ देर के बाद मैंने अपनी चुदाई तेज कर दिया और जोर जोर से उसकी चूत को दूध मसलते हुए चोदने लगा और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए अपने होंठ को दांतों से दबा रही थी | करीब आधे घंटे की चुदाई के बाद मैंने अपना वीर्य उसकी चूत में ही झड़ा दिया | वो मेरी चुदाई से खुश हो गई और उसने मेरा नंबर ले ली | फिर मेरे पास कई सारी लड़की के और भाभिओ को कॉल आने लगे चुदाई के लिए | आज मैं एक सफल कॉल बॉय हूँ |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *