Bahan-ki-dost-se-apne-sex-life-ki-shuruat-ki

Bahan-ki-dost-se-apne-sex-life-ki-shuruat-ki

हेलो दोस्तों ! सबसे पहले आप सबको मेरा नमस्कार | मेरा नाम नवीन है | मै हैदराबाद में रहता हूँ | मेरी उम्र 25 साल है | वैसे तो मै एक बड़ी सी कंपनी में जॉब करता हूँ | इसीलिए मै हमेशा घर से दूर ही रहता हूँ | और काम के चक्कर में मै इतना बिजी रहता हूँ की न तो घर वालो के लिए और न ही अपने लिए टाइम निकल पाता हूँ | मैं एक माध्यम वर्ग परिवार से हूँ | बहुत कोशिशो के बाद मैं यहाँ तक पहुँच पाया हूँ | कड़ी मेहनत और लगन के बाद में मुझे ये जॉब मिली है | इसी लिए मै अपनी जॉब पे ज्यादा ध्यान देता हूँ | और ज्यादा से ज्यादा पैसे कमाने के लिए दिन रात लगा रहता हूँ | मेरे इस जिन्दगी की दौड़ में दौड़ते दौड़ते मै खुद को तो भूल ही गया था | न तो कालेज के समय मैंने कोई गर्ल फ्रंड बनाई और न ही स्कूल टाइम में | इसी लिए मैंने अब सब कुछ पा लिया लेकिन अब मुझे अपने शारीरिक भूख को पूरा करने की जरूरत थी | जिसके लिए अब मै चूत की खोज में था | वैसे तो मेरे घर वाले मेरे लिए शादी के लिए लड़कियां ढूढ़ रहे थे | लेकिन ये बात तो मै अच्छी तरीके से जनता था कि आज कल के टाइम में कोई भी लड़की बिना चुदे नही रह पाती है | तो जो मेरी बीवी आएगी वो भी किसी से जरुर चुद चुकी होगी | इसीलिए मै शादी से पहले एक बार सेक्स करना चाहता था | जिसके लिए मै एक अच्छी सी लड़की के तलाश में था | आप लोग तो जानते ही हैं कि ऐसे तो पैसे देकर हम जब चाहे चूत मार सकते है | लेकिन मैं ऐसा नही चाहता था |

चलिए अब मैं अपनी कहानी की ओर ले चलता हूँ | बात एक साल पहले की है | मेरी एक बड़ी बहन है | जिसकी शादी तय हो गई थी | चूँकि वो मेरी इकलौती बहन है इसीलिए मैंने खूब पैसे खर्च किये | और अपनी कंपनी से एक महीने की छुट्टियाँ लेकर आ गया |शदी की तैयारी जोरों पर थी |  सब लोग दौड़ भाग कर रहे थे | मैं भी इन्ही सब कामों में लगा हुआ था | अभी बस 3 दिन बचे थे बहन की शादी के अब तैयारियां और भी तेज़ हो गई थी | मैं इन्ही कामों में लगा हुआ था | तभी मेरी बहन मेरे पास आई और बहुत उदासी से बोली भैया मुझे आप की हेल्प चाहिए | पहले आप प्रोमिस करो की आप मन नही करोगे | मैंने कहा मेरी प्यारी बहना मेरे लिए मैं कुछ भी करूँगा बता क्या बात है | वो बोली भैया मेरी एक फर्न ड है जो पास के एक  टाउन में रहती है | मैंने उसे आमंत्रित किया था | लेकिन वो नही आ पा रही है क्योकि उसके घर पर कोई भी जेंट्स में नही है साथ में आने के लिए | मैंने जब उसकी माँ से बात की तो उन्होंने कहा कि अगर मै किसीकी यहाँ से भेज दूं तो वो उसे भेज देंगी | आप प्लीज़ जाकर उसे ले आओ न ! | मैंने कहा ठीक है कल सुबह मै जाकर उसे ले आऊंगा | वो बहुत खुश हुई | और हँसते हुवे चली गई |

अगले दिन सुबह मै उठा तैयार हुआ और अपनी गाड़ी से निकल पड़ा | वो टाउन करीब 90 किलो मीटर था | मै करीब दो घंटे में पहुच गया | जैसे ही मै उसके घर पहुंचा मैंने जब अपनी बहन की फ्रंड को देखा तो मैं तो बस पागल हो गया | क्या लग रही थी | एकदम मस्त माल | उसका नाम रीमा था | एक पल के लिए मेरे मन में आया कि इसे ही छोड कर मै अपने चोदने की शुरुवात करूँगा | शायद मेरी बहन ने उसे फ़ोन कर दिया था तभी वो पहले तैयार बैठी थी | मैंने चाय नाश्ता किया | फिर आराम करने लगा सोचा आराम से शाम को निकलूंगा | शाम को उसे गाड़ी में बिठाया और चल दिया | वो मेरे बगल में बैठी थी | उसकी गर्माहट से मेरे तन बदन में आग सी लग गई थी | मेरा लंड तो एकदम खड़ा हो गया था | वो भी मुझे ध्यान से देख कर मुस्कुरा रही थी | मैं अपने खड़े लंड को छुपाने की नाकामयाब कोशिश करने लगा | ये देख कर वो हंसने लगी | शायद वो मेरी कंडीसन समझ गई थी |

अभ हम आधे रस्ते ही पहुंचे थे की तभी बारिश आ गई | और खूब तेज़ आँधी भी | हमें रुकना पड़ा | अँधेरा हो चुका था अब जब आँधी रुकी तो मै गाड़ी स्टार्ट करने लगा लेकिन गाड़ी स्टार्ट होने का नाम नही ले रही थी | फिर मैंने मकेनिक के बारे में पता किया तो पता चला कि एस टाइम यहाँ कोई मैकेनिक नही मिलेगा | अब वहां रुकने के आलावा हमारे पास और कोई चारा नही था | मैंने गाड़ी को धक्का लगवा कर एक सुरछित जगह पर खड़ा कर के लॉक कर दिया और फिर रीमा के साथ चलने लगा और एक जगह का पता लगाकर वहां एक रात के लिए कमरा किराये पर ले लिया |  हमने खाना खाया फिर कमरे में गए मैंने कहा तुम कमरे में सो जाओ मै बाहर सो जाता हूँ | वो बोली नही मुझे अकेले डर लगता है साथ में सोयेंगे | मै तो यही चाहता था | वो बेड पर सोयी थी | और मै सोफे पर |

अभी मेरी आँख लगी ही थी कि मैंने कुछ महसूस किया | कुछ गर्माहट सा | आंख खोली तो देखा की रीमाँ मेरे पास में बैठी थी और मुझे देख रही थी | जैसे ही मैंने आँख खोली उसने अपने होंठ मेरे होंठ पर रख दिए | शायद वो मेरी फीलिंग्स को गाडी में ही समझ गई थी | और मेरे लिए उसके पास इससे अच्छा मौका नही था | मै भी उसका साथ देने लगा  अब उसकी हिम्मत और भी बढ़ चुकी थी | उसने मेरे हाँथ अपने बूब्स पर रख दिए | मैं उनको हाथो से दबाने लगा और उसे किस भी करने लगा था | वो बोली, आराम से करो.. | फिर मैंने उसकी ब्रा को उतार दिया | अब वो बिलकुल नंगी थी | मैंने अपनी शर्ट भी उतार दी और उसको किस करने लगा | मैंने उसको किस कर रहा था | तभी उसने मेरे पैंट में अपना हाँथ डाल दिया और मेर लंड को धीरे धीरे हिलाने लगी | फिर उसने दुसरे हाथ से अपनी चूत में फिन्गेरिंग शुरू कर दी | उसको बहुत मजा आ रहा था | फिर मैंने उसकी चूत में उंगली डाल दी | वो आह्ह्ह्ह आह्ह्ह्ह…. करके आवाजे निकलने लगी |

फिर वो मेरी बॉडी पर अपना हाथ फेर रही थी | फिर उसने मुझे मेरा पैंट उतरने को कहा मैंने झट से अपनी पैंट और नेकर दोनों निकल दिया | मैं सोफे पर बैठ गया और रीमा मेरा लंड चूसने लगी | मैं भी ख़ुशी से मोअन कर रहा था | चूसते – चूसते मेरा माल निकल गया | उसने वो सारा पी लिया |फिर वो बेड पर मुझे ले गई | और टांग फैला कर बैठ गई और मेरे सर को अपनी चूत में दबाने लगी | उसकी चूत बिलकुल चिकनी थी | थोड़े से बाल थे जरुर उस पे | फिर मैं उसकी चूत को अच्छे से लिक कर रहा था और टंग फक भी | वो अब बहुत गरम हो चुकी थी और बहुत तेज मोअन कर रही थी | आआह्ह्ह्ह आह्ह्हह्ह…. |

अब मैं बेड पर लेट गया और वो मेरे  ऊपर आकर बैठ गई | फिर मेरे लंड को अपनी चूत पर फिट किया| और एक ही झटके में पूरा लंड उसकी चूत में पर हो गया | कितनी गरम थी उसकी चूत | उसकी चूत ने मेरे लंड को अपने अन्दर जकड लिया | मै तो बस जन्नत की सैर कर रहा था | फिर रीमा धीरे – धीरे ऊपर नीचे होने लगी और मोअन करने लगी | उसे बहुत ही मजा आ रहा था | फिर मैंने उसे बेड पर लेटाया और उसके ऊपर आ गया | मैंने अपना लंड उसकी चूत में डाल दिया | वो फिर से मोअन करने लगी | आह्ह्हह्ह… आह्ह्हह्ह…उफ्फ्फ… फ़क मी हार्ड…. वो जोर जोर से चिल्ला रही थी |

थोड़ी देर बाद, जब मैं झड़ने वाला था, तो मैंने अपना लंड निकाला और पेट पर ही सारा स्पर्म निकाल दिया | हम दोनों बहुत खुश थे | मस्त मजा आया हम दोनों को | वो अपने पेट पर ही स्पर्म को फैलाने लगी | मैंने अब अन्दर गया और एक पिलो ले आया | हम दोनों थक चुके थे | लेट कर भी किस करने लगे | उसने बोला, कि आई लव यू नवीन.. वो बहुत खुश थी और उसने मुझे एक लम्बी स्मूच दी |

उसके बाद हम सो गए और सुबह मैकेनिक भी आ गया मैंने गाड़ी सही करवाई | और फि हम गाड़ी में सवार हुवे और चल दिए | पहुँचने से पहले उसने मुझे एक जोरदार  किस किया | मेरी इच्छा मेरी बहन की फ्रेंड ने पूरी कर दी थी |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *