भाभी कि चुदाई बस एक बार कर पाया

भाभी कि चुदाई बस एक बार कर पाया

हेल्लो दोस्तों, मेरा नाम कार्तिक है और मैं लखनऊ से हूँ | मेरी उम्र 19 साल है और मैं दिखने में कुछ खास नहीं हूँ | मैं झूट नहीं बोलता ये मेरी आदत है | मेरी हाईट 6 फुट है और मैं एक कॉलेज स्टूडेंट हूँ | मेरे घर में मैं, मम्मी-पापा और भैया भाभी है | मैं एक बहुत ही खुशमिजाज लड़का हूँ | मेरी एक बुरी आदत है और वो है मुठ मारने की | हाँ दोस्तों, मैं बहुँत ही मुठ मारता हूँ | और इसी की वजह से मुझे चूत भी मिली और फिर चूत छिन भी गयी | ये मेरे जीवन की एक दम सच्ची घटना है जो मैं आप सभी के सामने पेश कर रहा हूँ | चलिए अब मैं ज्यादा वक़्त बरबाद ना करते हुए सीधा कहानी में आता हूँ |

ये घटना पिछले साल की है जब मैं फर्स्ट इयर में था | मेरे भैया शादी के बाद कुछ साल बाद ही दिल्ली में जॉब करने चले गये और वो बहुत ही अच्छी पोस्ट में थे | मेरी भाभी अब अपने कमरे में अकेले ही रहती थी | वैसे दोस्तों, मेरी भाभी दिखने में बहुत गोरी है | उनका फिगर भी बहुत मस्त है | मेरी भाभी का नाम रेखा है उनके दूध बड़े है, कमर गदरायी हुई, और मस्त गोल सी गांड है उनकी | सबसे प्यारी उनकी आँखे है जो बहुत ही प्यारी है |

एक दिन रात की बात है, रात में मुझे प्यास लग रही थी तो मैंने अपनी पढ़ाई कर के पानी पीने के लिए किचन में गया | मेरी भाभी का कमरा किचन के बिलकुल बाजू में ही था | मैं जब पानी पी रहा था तब भाभी के कमरे से हाली हलकी आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः की आवाजे आ रही थी | पहले तो मुझे ऐसा लगा कि शायद भाभी के कमरे में कोई घुसा होगा | पानी पीने के बाद मैं भाभी के कमरे कि तरफ गया और दरवाजे के छेद से देखने लगा कि भाभी के कमरे में कौन है ? पर मुझे जब कोई नहीं दिख रहा था | फिर मै भाभी के कमरे का दरवाजा खटखटाया तो भाभी ने 5 मिनट देर बाद दरवाज़ा खोला | मैंने उनसे पूछा kiकि भाभी आपके कमरे से आपकी आवाजे आ रही थी सब ठीक तो है न ? तो भाभी हांफते हाँफते हुए कहने लगी कि नहीं तो कोई नहीं है | फिर मैंने पूछा तो ये आवाज़े कैसी थी ? और मैं कमरे के अन्दर चला गया | भाभी मुझे रोक रही थी पर मैं अन्दर चला गया | मैंने वहां देखा कि कोई नही था | उसके बाद मैं भाभी को सॉरी बोलते हुए जैसे ही कमरे से बाहर आने को हुआ | तभी मेरी नजर एक चीज़ पर पड़ी मैं जब उसे देखा तो मेरे होश उड़ गये | मैंने भाभी से पूछा भाभी ये तो नकली लंड है ये यहाँ कैसे ? तो भाभी डरते हुए मुझसे बोली कि सुन मैं तुझे सब कुछ बता दूंगी पर तू वादा कर किसी को नहीं बोलेगा | तो मैंने हाँ में सिर हिला दिया |

उसके बाद भाभी ने कमरा बंद किया और मुझसे बोली सुन ! तुझे तो पता है कि तेरे भैया बाहर रहते है तो मैं अपनी शारीरिक संतुष्टि प्राप्त नहीं कर पाती | इसी वजह से मैं इस नकली लंड को अपनी चूत में ले कर खुद को शांत करती हूँ | एसी बाते सुन कर भाभी की मैं बहुत दुखी हो गया | आखिर भाभी ने शादी भैया के लिए ही की और जो सुख उनको मिलना चाहिए था वो उन को मिल नही रहा था | फिर मैंने भाभी से कहा कि भाभी आप परेशान मत हो मैं हूँ न आपका देवर | मैंने बस इतना ही कहा था कि भाभी ने मुझे गले लगा लिया और रोने लगी | तो मैंने भाभी को चुप कराते हुए अपने होंठ को उनके होंठ में रख कर किस करने लगा | मैं उनके होंठ को चूसने लगा और जीभ चूसने लगा | भाभी भी मेरा साथ दे रही थी और मेरे होंठ को चूस रही थी | 10 मिनट तक हम दोनों एक दूसरे को किस कर रहे थे | उसके बाद मैंने भाभी के गाउन को उतार दिया था और भाभी के मस्त बड़े बड़े दूध को चूसने लगा | मैं उनके दूध के निप्पल्स को होंठ से खीच खीच के चूस रहा था और मसल रहा था दोनों दूध को और वो मस्त हो कर आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः कर रही थी | मैं उनके दूध को बड़े ही प्यार से जोर जोर से चूसे जा रहा था और अपने दूध चुसवाते हुए आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः सिस्कारिया भर रही थी |

फिर मैंने भाभी को बेड पर ही लेटा दिया और उनकी चूत जो कि गोरी और चिकनी थी चाटने लगा अपनी जीभ से और वो आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः करने लगी | मैं उनकी गोरी गोरी चिकनी चूत को ऊँगली से चोदते हुए अपनी जीभ से चाट रहा था और वो जोर जोर (मंद आवाज़) से आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः करने लगी | 15 मिनट उनकी चूत चाटने के बाद उन्होंने मुझे लेटा दिया और मेरे लंड को अपने मुंह में ले कर चूसने लगी जोर जोर से और मैं आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः करने लगा | मुझे भाभी का ऐसे लंड चूसना बहुत अच्छा लग रहा था | भाभी अपने मुंह में मेरे लंड को जोर जोर चूसे जा रही थी और मैं आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः कर रहा था |

उसके बाद मैंने भाभी को फिर से लेटा दिया और उनकी टाँगे अपने कंधे में रख कर उनकी चूत में अपना लौड़ा डाल दिया | अब मैं भाभी को जोर जोर से चोदने लगा और भाभी भी मजे ले ले कर चुदवा रही थी और आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः करते जा रही थी | फिर मैंने अपनी चुदाई कि स्पीड बढ़ा दिया और उनकी चूत और जोर जोर से चोदने लगा तो भाभी भी मस्ती में अपनी गांड उठा उठा कर चुदवाने लगी और आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः करने लगी | फिर मैंने भाभी को घोड़ी बना दिया और पीछे से उनकी चूत में अपना लंड डाल कर चोदने लगा जोर जोर से और भाभी आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः करने लगी | भाभी ने मुझसे कहा कि तुम तो बहुत अच्छी चुदाई करते हो पहले भी कभी चुदाई किये हो क्या ? तो मैंने भाभी से कहा नहीं भाभी मैंने बस ब्लू फिल्म में देखा है | फिर मैं उनकी चूत जोर जोर से चोदने लगा और भाभी भी आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः करते हुए चुदवा रही थी | आधे घंटे की चुदाई के बाद मैंने भाभी कि गांड में अपना माल उड़ेल दिया था | भाभी कि गांड से गरम गरम लावा उनकी चूत से होते हुए नीचे टपकने लगा था |

भाभी की चुदाई के बाद मैं अपने कमरे में वापस आ गया | फिर मैं सो गया | अगले दिन सुबह सुबह मैं अपने कॉलेज के लिए निकल गया | उस दिन मै बहुत खुश था इस बात से कि चलो अब मैं भाभी के साथ रोज चुदाई किया करूँगा | कॉलेज के बाद मैं सीधा घर आ गया और फिर भाभी ने मुझे खाना दिया | हम दोनों एक दूसरे को देख कर मुस्कुरा रहे थे | साथ में हम दोनों बस रात होने का इंतज़ार कर रहे थे क्यूंकि दिन के वक़्त मेरे मामी पापा नहीं सोते है | फिर रात का खाना खाने के बाद हम दोनों ही सबके सोने का इंतज़ार करने लगे | जब सब सो गये थे तो मैं चुपके से भाभी के कमरे में गया और भाभी से लिपट गया | फिर हम दोनों सीधा चुदाई में लग गये थे | जब भाभी आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः कर रही थी | तब मम्मी ने हम दोनों को रँगे हाँथ पकड लिया | फिर ये बात भैया को पता चल गयी | किसी ने हम दोनों कुछ नहीं कहा बस भैया घर आ कर भाभी को साथ ले गये | और फिर हम दोनों कभी चुदाई नहीं कर पाए |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *