ननद के सामने भाभी की मस्त चुदाई

ननद के सामने भाभी की मस्त चुदाई

hindi sex stories हाय फ्रेंड्स कैसे हो सभी लोग ? आप सभी लोग ठीक ही होगे | मैं आज एक अपनी कहानी को लेकर आया हूँ | ये मेरी पहली कहानी है और मेरे जीवन की सच्ची घटना | मैं अपनी कहानी को शुरू करने से पहले अपने बारे में बताना चाहता हूँ |

मेर नाम सतीश है | मेरी उम्र 24 साल है | मैं रहने वाला उत्तर पदेश के एक गाँव से हूँ | मैं अभी बी ऐ की पढाई कर रहा हूँ | मैं दिखने में गोरा हूँ और मेरी बॉडी भी ठीक ठाक है जिससे में दिखने में स्मार्ट भी लगता हूँ | मेरी हाईट 5 फुट 9 इंच है | मेरे लड़ का साइज़ 5 इंच लम्बा है और मोटा 2 इंच है | मैं आज जो कहानी को आप लोगो के सामने प्रस्तुत करने जा रहा हूँ | मुझे उम्मीद है की आप लोगो को मेरी कहानी पसंद आयेगी और इस कहानी को पढने में मज़ा भी आयेगा | अब मैं आप लोगो का ज्यादा टाइम ने लेते हुए सीधे कहानी पर आता हूँ |

ये कहानी अभी कुछ दिन पहले की है | मेरी एक गर्लफ्रेंड है और उसका नाम रागनी है | वो दिखने में कमसिन जवान है और उसका फिगर भी सेक्सी है | उसके बड़े बड़े बूब्स और उसकी बड़ी चौड़ी गांड आकर्षण का केंद्र लगता है | मैं जब भी उसको देखता हूँ तो मन में चुदाई की आशा आ जाती है | वैसे मैं उसको बहुत बार चोद चूका हूँ और उसका मेरा रिश्ता ही एक सेक्स से शुरू हुआ था | बहुत पहले की बात है जब मैं अपने घर में था और उस दिन मेरे घर पर कोई भी नही था | रागनी मेरी घर के पास में ही रहती है | उस दिन मेरे घर पर कोई नही था तो मैंने उस दिन ब्लू फिल्म देख कर मुठ मार रहा था की रागनी मेरे घर अ गयी और उसने मुझे मुठ मारते देख लिया था | पहले तो मेरी गांड फट कर मेरे हाथ में अ गयी और वो ये करते मुझे देख बोली रजा क्या कर रहे हो तो मैं बोला कुछ नही सायद वो मुझे पहले से पसंद करती थी | इसलिए उसने उस दिन मुझसे अपनी चुदाई कराई थी | इस तरह से उसने मुझे अपना पति मान लिया था और मौका मिलने पर वो मुझसे अपनी ठुकाई कराती थी | मैं और रागनी ऐसे ही अपनी लाइफ में खुश थे क्यकि उसे लंड का सुख मिल जाता था और मुझे चुदाई का सुख मिल जाता था | हम दोनों ये करते पिछले 2 साल से आ रहे थे और हमरे रिश्ते के बारे में किसी को नही पता था |

एक दिन की बात है जब रागनी ने मुझे कॉल की और बोली मेरे राजा आज मेरे घर पर कोई नही है सिर्फ़ मेरी भाभी है | वो तो अपने कमरे में सो जाएगी तब मैं और तुम मज़े लेंगे और पूरी रात प्यार करेंगे | तब मुझे भी ख़ुशी हुई की आज मैं उसको उसके घर में ही जाके उसकी चुदाई करूँगा | फिर मैं रात को चुपके से उसके घर में जाके उसके कमरे में चला गया | कुछ देर बाद वो कमरे में आ गयी और अन्दर से दरवाजा को बंद कर लिया | फिर मैं और वो बेड पर लेट गए और किस करने लगे | वो मेरी होठो को अपने मुंह में रख कर चूसने लगी और मैं भी उसकी होठो को अपनी होठो से दबा दबा कर चूसने लगा | मैं उसके रसीले होठो को चूस रहा था | उस दिन उसकी होठ कुछ ज्यादा ही जैसे की होठ को नही शहद को चूस रहा हूँ | मैं उसकी होठो को ऐसे ही 5 -6 मिनट तक चूसता रहा और वो मेरी होठो को चूसती रही | फिर मैंने अपने कपडे और उसके कपडे निकाल दिए | तब वो मेरे सामने ब्रा और पेंटी में आ गयी | मैं उसके सामने चड्ढी में आ गया | मैं उसके बूब्स को दबाते हुए उसकी ब्रा को भी खोल दिया और उसके मस्त गोल और चिकने दूधो को मुंह में रख कर चूस रहा था | मैं उसके एक दूध को मुंह में रख कर चूस रहा थे और दुसरे वाले दूध के निप्पल को अपने हाथ में पकड कर दबाने लगा तो उसके मुंह से मस्त आवाज में ऊऊ ऊऊ आआआ… उई उई उई उई… माँ माँ माँ माँ…. सी सी सी ईईईई….. की सिसिकियाँ लेने लगी | फिर मैं उसके एक दूध के निप्पल को अपनी होठो से पकड कर खीच खीच कर चूसने लगा | तब उसके जिस्म में जैसे आग सी लग गयी हो और वो मचल उठी | फिर मेरे से लिपट कर मेरे लंड को चड्ढी के ऊपर से दबाने लगी | वो अब मस्त पुरे जोश में थी और मेरे से लिपट कर अपने स्तन को मेरे शरीर से रगड रही थी | हम और रागनी अब पुरे जोश में थे और चुदाई करने के लिए तैयार थे की किसी ने दरवाज बजाया तब हम दोनों की गांड फट गयी और रागनी कपडे पहनने लगी | तब बाहर से आवाज आई तो दरवाजा खोल कपडे न पहन वो आवाज उसकी भाभी की थी और मैं ये आवाज सुनकर बिना डरे ही कमरे में बैठ गया क्यकी मुझे पता था की उसकी भाभी से कैसे बात करनी है | पर रागनी डर के मारे काप रही थी और फिर उसने दरवाजा खोल दिया |

तब उसकी भाभी उसके बाल पकड कर बोली तू रंडी ये गुल खिला रही है और बाल पकड कर खीच रही थी | फिर मुझसे बोली की और तेरी तो ये बहन हुई तो अपनी बहन को ही चोद रहा था | मैं कुछ नही बोला और चुप चाप खड़ा रहा क्यकी मुझे उससे बचने के लिए मेरे पर कुछ था जिससे उसकी आवाज ही नही उसकी भी गांड फट जाएगी | वो रागनी के बाल को पकड कर जोर जोर से खीच रही थी और एक दो तमाचा भी लगा दिए तो रागनी की आँखों में पानी आ गया | तब मैंने कहा भाभी जाने दो इसको तब वो बहुत ही लाल आंखे करके बोली रुक तुझे मैं बताती हूँ | तब वो मेरी और बढ़ी तो मैं बोला रुक मादरचोद पहले ये तो देख ले | मैंने अपने फ़ोन को उठाया और उसमें एक विडियो चला दिया | वो विडियो देख कर उसकी गांड फटी की फटी रह गयी और अब उसके मुंह से आवाज भी नही निकल रही थी | क्यकी वो विडियो उसके सेक्स का था | मेरे गाँव में ही एक डोक्टर है जो रागनी के घर दवाई देने आता रहता था और एक दिन की बात है जब मुझे रागनी ने कुछ काम से बुलाया था तो मैं रागनी के घर आया था तो मेरे कान में सिसिकियाँ की आवाज पड़ी तो मैंने भाभी के कमरे में देख तो भाभी और डोक्टर चुदाई कर रहे थे और मैंने सोचा ये तो मेरे काम भी आ सकता है | तब मैंने उस दिन उसका विडियो बना लिया था |

अब मैं बोलने लगा की क्या हुआ मादरचोद चोद अब तू बोल न बड़ी सती सावित्री बन रही थी | तब वो मेरी तरफ देख कर अपने सर को झुका लिया और मैं उसको गाली पर गाली दे रहा क्यकि उस टाइम मेरा ग़ुस्सा सातवे असमान पा था | मैं उसको गाली दे रहा था और रागनी बोल रही थी जाने दो वो मेरी भाभी है | पर ग़ुस्सा तो रागनी को लग रहा था की साली रंडी भईया के होते हुए भी दुसरे से चुदवाती है |

उसके बाद मैंने उसको चोदने के बारे में सोच लिया और उसकी ढली जवानी के मज़े लेने के बारे में सोचने लगा | वैसे तो अब वो इतनी ज्यादा मस्त नही थी क्यकि उसके 2 बच्चे हो चुके थे | फिर मैंने उसे कपडे उतारने लगा तो उसने कहा मुझे जाने दो रागनी के साथ जो मन हो करो मुझे कोई मतलब नही है | तब मैं बोला मादरचोद तू कपडे उतार मैं जो बोला रहा हूँ और बस करती जा नही तो ये विडियो सीधे तेरे पति तो दिखाऊंगा | तब उसने अपनी साड़ी को उतारने लगी और कुछ ही देर में वो मेरे सामने ब्रा और पेंटी में आ गयी | तब मैंने उसकी ब्रा भी खोल दी तो उसके बूब्स नीचे लटक गए | मैं उसके बूब्स को 4 -5 मिनट तक चूसने के बाद मैंने उसको बेड पकड़ा कर घोड़ी बना दिया और उसकी गांड में पीछे से लंड को डाल कर घुसा दिया | तब उसके मुंह से चीख निकल गयी | वो चुदना नही चाहती थी पर मैं उसकी गांड में पीछे से आधे लंड को घुसा कर उसकी गांड मारने लगा तो उसके मुंह से ऊऊ ऊऊउ हहह अह नाह नाह हाँ हं अह ह अह ह…. की सिसिकियाँ लेन लगी | मैं उसकी गांड में अपने लंड को पूरा घुसा कर उसको चोदने लगा | मैं उसकी गांड में पीछे से जोर जोर के धक्को के साथ अन्दर बाहर करते हुवे उसको चोद रहा था और रागनी मेरे पास बैठ कर ये सब देख कर थी | फिर मैंने उसकी गांड से लंड को निकाल कर रागनी के मुंह में रख कर चुसाने लगा वो मेरे लंड को मुंह रख कर चूसने लगी | मैं फिर उसके मुंह से लंड को निकाल कर उसकी चूत में डाल कर चोदने लगा मैं उसको ऐसे ही 15 मिनट तक चोदता रहा और फिर उसकी चूत के अन्दर ही अपना पानी निकाल दिया | फिर उसको कपडे पहनने को कहा और बोला ध्यन रखना कोई इधर न आये अब मैं रागनी के साथ रात भर प्यार करूँगा | फिर मैंने उस रात पूरी रागनी के साथ प्यार किया और अब मैं रागनी को रागनी की भाभी के सामने भी चोद लेता हूँ |
ये थी मेरी कहानी मुझे उम्मीद है की आप सभो को बहुत मज़ा आया होगा कहानी पढने में |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *