चोरी करते पकड़ा, चूत को रगड़ा

चोरी करते पकड़ा, चूत को रगड़ा

hindi sex stories नमस्कार पाठको कैसे हैं आप सभी लोग ? मैं आशा करता हूँ की आप सभी ठीक ही होंगे | तो आप सभी लोग चुदाई का मज़ा तो ले ही रहे होगे या नहीं मिल रहा है ? कुछ मेरे दोस्त हैं जिनके पास चुदाई के लिए टाइम नही है मैं उन लोगो को बताना चाहूँगा की वो लोग चुदाई के लिए टाइम निकाल कर मस्त चुदाई का पूरा मज़ा ले क्यकी ये जीवन दुबारा नहीं मिलने वाला है | दोस्तों मेरा नाम ओम परकाश हैं | मेरी उम्र 26 साल है | मैं रहने वाला कानपूर का हूँ | मेरी हाईट 6 फुट 9 इंच है | मेरे लंड का साइज़ 8 इंच लम्बा और 3 इंच मोटा हैं | मेरी पढाई पूरी हो चकी है | मैं दिखने मैं गोरा हूँ और मेरी बॉडी भी ठीक ठाक है जिससे में स्मार्ट लगता हूँ | मेरे घर मैं 4 लोग रहते हैं | मेरे पापा मम्मी और मैं मेरा छोटा भाई | मुझे सेक्सी कहनियाँ पढना बहुत पसंद हैं | मैं सेक्सी कहानियाँ बहुत टाइम पहले से पढ़ता आ रहा हूँ | मुझे भी अपनी कहानी लिखने की खवहिश थी | जो आज पूरी हो रही है | ये मेरी पहली कहानी है तो इस में गलती भी हो सकती है अगर आप लोगो को इसमें गलती नज़र आती है तो मुझे माफ़ करना | मैं आशा करता हूँ की आप लोगो को मेरी कहानी पसंद आयेगी और पढने में मज़ा भी आएगा | अब मैं आप लोगो का ज्यादा समय न लेते हुए सीधे अपनी कहानी पर आता हूँ |

ये कहानी अभी कुछ दिन पहले की है | जब मेरी पढ़ाई पूरी हो गयी थी और मैं एक मॉल में जॉब करता था | यहाँ एक एक से मस्त लड़कियाँ रोज आती थी एक दिन की बात है | मुझे एक लड़की दिखी जो बहुत ही ज्यादा सेक्सी थी | उसके बड़े बड़े बूब्स और उसकी बड़ी चौड़ी गांड थी | मैं उसी को देख ही रहा था की मुझे वो कुछ सामान चुराते हुए दिखी और मैं जाकर उसे पकड लिया | वो बहुत ज्यादा डर गयी थी | वो मुझसे कहने लगी सर मुझे छोड़ दो मैं उससे कहा नही तुमने चोरी की है तुम्हे सजा जरुर मिलेगी | तब वो मुझसे हाथ जोड़ कर कर कहने लगी सर मुझे छोड़ दो चाहे मेरे साथ कुछ कर लो मगर पुलिस को मत बुलाना | तब मैंने कहा ठीक है मेरे साथ चलो और मैं उसको अन्दर प्राइवेट रूम में लेगाया और उससे कहा तुम मेरे साथ सेक्स करो जो तुम्हे चाहिए में तुम्हे और दूंगा | तब वो कुछ देर तक सोचने के बाद बोली सर पुलिस को मत बुलाना तब मैंने कहा ठीक है नही बुलाऊंगा |

तब उसने कहा ठीक है तुम मेरे साथ जो मन हो कर लो और मैं उसकी होठो पर अपने होठ रख कर उसके होठो को चूसने लगा | वो कुछ देर तक मेरे साथ नही दिया और फिर मेरा साथ देती हुई वो भी मेरे होठो को चूसने लगी | मैं उसके होठो को चूसने के साथ में उसके बूब्स को दबा रहा था | मैं उसके बूब्स को दबाते हुए उसके कपडे निकाल दिए | वो अब ब्रा और पेंटी में थी | मैं उसके बूब्स को दबते हुए उसका ब्रा भी खोल दिया | फिर उसके एक दूध को मुंह में रख कर चूसने लगा | तो उसके मुंह से उह्ह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह फफफफ ह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह अह्ह्ह अहह उह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह ऊऊ की सिसिकियाँ लेती हुई मेरे सर को सहलाने लगी | मैं उसके दूध को मुंह में रख कर जोर जोर से चूस रह था और दुसरे वाले दूध को हाथ में पकड कर दबा रहा था | वो उह्ह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह फफफफ ह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह अह्ह्ह अहह उह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह ऊऊ करती हुई मेरे सर को सहला रही थी | फिर मैंने उसके पहले वाले को छोड़ कर दुसरे वाले दूध को मुंह में रख कर चूसने लगा और पहले वाले को हाथ से मसलने लगा | वो उह्ह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह फफफफ ह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह अह्ह्ह अहह उह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह ऊऊ करती हुई अपने मुंह में अपनी ऊँगली को डाल कर चूस रही थी मैं उसके दूध को एक एक करके चूस रहा था | वो सपने मुंह में ऊँगली को डाल कर चूसते हुए उह्ह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह फफफफ ह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह अह्ह्ह अहह उह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह ऊऊ कर रही थी | मैं उसके बूब्स को कुछ देर तक एक एक करके चूसता रहा | फिर मैंने उसके दूध को छोड़ कर उसकी पेंटी को निकाल दिया और उसकी टांगो को थोडा सा फेला कर उसकी चूत में अपने मुंह को घुसा कर उसकी चूत को चाटने लगा | वो उह्ह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह फफफफ ह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह अह्ह्ह अहह उह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह ऊऊ अहह अह्ह्ह्ह करती हुई अपनी ऊँगली को चूस रही थी | मैं उसकी चूत में अपनी जीभ को घुसा कर उसकी चूत को चाट रहा था | वो उह्ह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह फफफफ ह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह अह्ह्ह अहह उह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह ऊऊ करती हुई अपनी ऊँगली को चूस रही थी | मैं उसकी चूत को चाटने के साथ में उसकी चूत में अपनी ऊँगली भी घुसा कर अन्दर बाहर करने लगा | वो उह्ह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह फफफफ ह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह अह्ह्ह अहह उह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह ऊऊ कर रही थी | मैं उसकी चूत में ऊँगली को जोर जोर से अन्दर बाहर करने लगा | मैं उसकी चूत को अपनी ऊँगली से चोदने लगा | फिर मैंने अपने कपड़े निकाल कर अपने लंड को उसके हाथ में पकडा दिया वो मेरे लंड को हाथ में पकड कर हिलती हुई | अपने मुंह में रख कर चूसने लगी | तो मेरे मुंह से उह्ह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह फफफफ ह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह अह्ह्ह अहह उह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह ऊऊ की सिसिकियाँ निकल गयी | वो मेरे लंड को मुंह में रख कर अन्दर बाहर करती हुई चूसने लगी | वो मेरे लंड के टोपे पर अपने जीभ को रगड़ने लगी | जिससे मेरे मुंह से हलकी हलकी आवाज में उह्ह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह फफफफ ह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह अह्ह्ह अहह उह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह ऊऊ करते हुए उसके मुंह में धीरे धीरे धक्के मारने लगा और मैं उसके मुंह को छोड़ने लगा | मैं उसके मुंह को कुछ देर तक चोदता रहा | फिर उसके मुंह से लंड को निकाल कर मैंने उसकी तनगो को थोडा सा फेला करू स्की चूत में अपने लंड को घुसा कर उसको चोदने लगा | तो वो उह्ह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह फफफफ ह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह अह्ह्ह अहह उह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह ऊऊ करती हुई अपने बूब्स को मसलने लगी | मैं उसकी चूत में अपने लंड को धीरे धीरे अन्दर बाहर करने लगा | वो उह्ह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह फफफफ ह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह अह्ह्ह अहह उह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह ऊऊ करती हुई अपने बूब्स को मसल रही थी | मैंने उसकी चूत में धक्को की स्पीड तेज कर दी | जिससे उसके मुंह से हलकी हलकी आवाज में उह्ह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह फफफफ ह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह अह्ह्ह अहह उह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह ऊऊ अह्ह्ह अहह करने लगी | मैं उसकी चूत को जोरदार धक्के से चोदने लगा | तो वो अपनी चूत को हिला हिला कर चुदने लगी | मैं उसकी चूत में अन्दर बाहर करते हुई जोर जोर से धक्के मार रहा था | वो मस्त होकर चुदती हुई उह्ह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह फफफफ ह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह अह्ह्ह अहह उह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह ऊऊ अह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह कर रही थी | फिर मैंने उसकी चूत से लंड को निकाल कर उसको जमीन पर घोड़ी बना कर उसके पीछे से चूत में लंड को डाल कर अन्दर बाहर करते हुए चोदने लगा | वो उह्ह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह फफफफ ह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह अह्ह्ह अहह उह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह ऊऊ करती हुई अपनी चूत को आगे पीछे करती हुई चुदने लगी | मै उसको जोर जोर के धक्को के साथ चोद रहा था | वो उह्ह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह फफफफ ह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह अह्ह्ह अहह उह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह्ह ऊऊ करती हुई अपनी चूत को हिला हिला कर चुद रही थी | मैं उसको इसी तरह से 35 मिनट तक चोदने के बाद मेरे लंड ने सारा माल उसकी गांड पर निकाल दिया | फिर उसने अपने कपडे पहन कर वो सामान लेकर चली गयी |

दोस्तों ये थी मेरी कहानी | मैं आशा करता हूँ आप लोगो को मेरी कहानी पसंद आई होगी और पढने में मज़ा भी आया होगा | कहानी पढने के लिए धन्यवाद् |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *