पड़ोस की लड़की के साथ रात में लिए मजे

पड़ोस की लड़की के साथ रात में लिए मजे

hindi se stories, kamukta, antarvasna sex stories

दोस्तों, मेरा नाम ललित है और मैं राजस्थान का रहने वाला हूँ | मेरी हाइट 5 फुट और 8 इंच है और रंग गोरा, बॉडी फिट है | दोस्तों मैं भी आप लोगों की तरह इस वेबसाइट का पाठक हूँ और आज अपनी दूसरी कहानी लेकर हाजिर हूँ | मेरी पहली कहानी को आप लोगों से बहुत प्यार मिला | आशा है की इस कहानी को भी आप लोगों का भरपूर प्यार मिलेगा | खैर, अब आप लोगों को और ज्यादा समय न लेते हुए कहानी पर आता हूँ |

एक बार की बात है, मैं अपने ननिहाल गया हुआ था | वो घर शहर में है | उस घर के सामने एक घर है जिसमे एक मस्त माल रहती है | उसका नाम नेहा है और वो गोरी है काफी | उसको उम्र लगभग 19 है और उसका फिगर मस्त है | बूब्स उसके बहुत बड़े तो नही हैं लेकिन उसके पतले शरीर के हिसाब से सही हैं | उसकी गांड भी बहुत उठी नही है लेकिन अच्छी लगती है | नेहा एक हॉट तो नही लेकिन एक क्यूट माल है | पहले भी मैंने कई बार उस पर लाइन मारी है लेकिन वो थोडा भाव खाने लगी तो मैंने भी ज्यादा कोशिश नही की | इस बार जब मैं गया तो मामा के घर में भी ऊपर वाली मंजिल पर एक कमरा बन चूका था और उसकी छत पर भी कमरे बन चुके थे | मैंने लैपटॉप लिया और मामा के ऊपर वाले कमरे में चला गया और दरवाजा अन्दर से बंद करके फिल्म देखने लगा | मैं फिल्म देख ही रहा था की अचानक से मैंने सामने देखा तो नेहा मुझे देख रही थी | मैंने अब फिल्म बंद की और उसे लाइन देना शुरू कर दिया | इशारों इशारों में थोड़ी बातें हुईं लेकिन तभी उसकी मम्मी आ गयीं इसीलिए वो चली गयी | वो गयी तो मेरा मन नही लग रहा था | मैंने फ़ोन में हॉटस्पॉट ओन किया और लैपटॉप पर पोर्न विडियो चला कर ईरफ़ोन लगा आकर देखने लगा | मेरा लंड खड़ा हो चूका था |

अभी मैं पोर्न देख ही रहा था की वो अचानक से फिर दिखी | उसे देखकर मुझे मजा आ गया | मैंने चादर ओढ़ी और उसे चोदने की कल्पना करके लंड हिलाने लगा | जब मैंने देखा की वो मेरी तरफ ही देख रही है तो मैंने लंड हिलाना बंद कर दिया ताकि उसे बुरा न लग जाये और इशारे इशारे में फ़ोन नंबर माँगा | उसने एक कागज पर अपना नंबर लिखा और मेरी बिल्डिंग की तरफ फेंक दिया | अब मैंने बालकनी से वो कागज उठाया और उसका नंबर सेव करके उसे व्हात्सप्प पर मेसेज कर दिया | इशारों में मैंने उससे मोबाइल चेक करने को बोला | उसने मुझे रिप्लाई किया और अब हम दोनों व्हात्सप्प पर चैट करने लगे | बातों ही बातों में मैंने उसको बताया की मैं उसे पसदं करता हूँ | वो बोली की वो भी करती है | अब मैंने उसको बिना देर किये आई लव यू बोल दिया | उसने भी तुरंत आई लव यू टू बोल दिया | मैं खुश हो गया | अब उससे सीधा चुदाई के लिए तो नही बोल सकता था | इसीलिए मैंने उससे बोला की तुम्हे किस करने का बहुत मन कर रहा है | वो बोलने लगी की कण्ट्रोल करो | मैंने बोला इतने दिनों से किया तो है लेकिन अब नही हो रहा | वो बोली चलो मैं देखती हूँ क्या हो सकता है | मैं खुश हो गया |

शाम को उसका मेसेज आया की वो रात में ऊपर वाले कमरे में अकेले सोएगी | अब मैंने भी मामा से बोला की मामा, मुझे रात में लैपटॉप पर कुछ काम करना है इसीलिए मैं ऊपर वाले कमरे में ही सोऊंगा | फिर मैं कहाँ वगैरह खा कर ऊपर आ गया और दरवाजा बंद कर लिया | अब मैं उसका इंतजार करने लगा | लगभग आधे घंटे के बाद वो भी खाना खा कर आ गयी | मैंने उससे बोला की बताओ अब कैसे करना है | वो बोली थोडा रुको, सबको सो जाने दो | लगभग 10 बजे जब लगभग सारे लोग सो गये तो उसने बोला की एक उपाय है लेकिन रिस्क है उसमे | मैंने बोला तुम बताओ तो, मैं रिस्क लेने के लिए तैयार हूँ | वो बोली की फिल्मी स्टाइल | असल में दोनों घरों की बालकनी में लगभग 4 फुट का फर्क है | अब जो उसने बताया वो सच में रिस्की था | वो बोल रही थी लकड़ी के पटरे लगा कर मैं उसके घर में आ जाऊं और उसके कमरे में जाकर उसको किस कर लूं | मैंने हिसाब लगाया और 3 पटरे ले आया और अपनी बालकनी से उसकी बालकनी के बीच लगा दिए | अब रास्ता चौड़ा हो चूका था और कोई भी आराम से इन लकड़ी के पटरों पर से आराम से आ जा सकता था | मैंने इधर उधर देखा | अँधेरी रात थी इसीलिए डर कम था किसी के देखने का | जब कोई नही दिखा तो मैं उन पटरों पर चढ़ा और उसकी साइड जाकर फिर से पटरे उतार कर उसकी ही छत पर साइड में रख दिए | अब मैं और वो उसके कमरे में चले गये |

मैंने जाते ही उसके कमरे का दरवाजा बंद किया और उसे दीवार के सहारे टिकाकर जोरदार किस करने लगा | वो भी गर्म थी, मेरा पूरा साथ देने लगी | मैंने अब उसके होठों को चुसना शुरू कर दिया | धीरे धीरे मैं उसकी गर्दन और उसके आस पास किस करने लगा | वो मस्त हो कर सिसकियाँ लेने लगी | मैंने अब उसको बिस्तर पर लिटाया और अपनी टीशर्ट उतार कर के उसके ऊपर आ गया | वो मेरे इरादे समझ गयी और बोलने लगी शराफत से बस किस करो और जाओ.. बाकी फिर कभी | मैंने कहा अच्छा किस तो करने दो अच्छे से | वो बोली ठीक है, लेकिन सिर्फ किस | मैंने बोला ओके | अब मैं उसके होठों पर किस करने लगा | किस करते करते मैंने उसकी गर्दन पर किस करना शुरू कर दिया | किस करते करते मैं अपना एक हाथ उसके बूब्स पर ले गया | उसने मेरा हाथ वहीँ झटक दिया | अब मैंने उसको फिर से किस करना शुरू कर दिया और अपना हाथ उसके बूब्स पर ले जाने लगा | उसने मेरा हाथ अपने बूब्स से हटाया और अपने हाथों से पकड़ लिया | अब मैंने उसके कान के पास किस करना शुरू कर दिया | उसको मजा आने लगा और उसने मेरे हाथ की पकड़ ढीली कर दी | अब मैंने थोडा सा जोर लगाया और उसके बूब्स पर हाथ ले गया | अब मैं उसके बूब्स दबाने लगा | वो मजे से आह्ह्ह ह ह हह हह ह ह ऊऊ ऊ ऊ उ उमम उम्म्म उम् करने लगी |

अब मैंने उसके कपडे के ऊपर से उसके बूब्स पर किस करने लगा | वो मस्ती में सिसकियाँ लेने लगी | अब मैंने उसका टॉप ऊपर कर दिया और ब्रा को साइड करके उसके बूब्स चूसने लगा | उसके छोटे छोटे निप्पल चूस रहा था | दोस्तों उसके छोटे बूब्स में जो मजा था वो आज तक मुझे बड़े बूब्स चूस कर भी नही आया | उसके बूब्स मुझे मीठे से लग रहे थे | मैंने अबी उसका दूसरा दूध अपने हाथ में लिया और चुसना शुरू कर दिया | मुझे मजा आ रहा था | अब मुझसे रहा नही गया और मैंने एक हाथ सीधा उसकी लोअर के अन्दर घुसेड कर उसकी चूत को सहलाना शुरु कर दिया | वो गुस्सा दिखाने लगी | मैंने उसको थोडा सा किस किया और उसके बूब्स को जोर जोर से किस करने लगा | अब वो भी गर्म हो चुकी थी थोड़ी सी | मैंने अब उसकी चूत में अपनी ऊँगली घुसेड दी और अन्दर बाहर करने लगा | उसकी चूत कसी थी और हलकी सी गीली भी | वो सिसकियाँ लेने लगी और आह हह हह हह ह हह ह्ह्ह ह्ह्ह हह ह्ह्ह ह ह्ह्ह्हह ह ह्ह्ह ह ह्ह्ह हह उम् मम मम म्मम्मम्म म मम मम उम् मम उम् म उम् अह अहह करने लगी |

मैंने अब उसका लोवर उतार दिया और उसकी पैंटी भी | अब मैंने ज्यादा देर करना सही नही समझा | मैंने अब सीधा लंड उसकी चूत पर टिकाया और एक ही झटके में घुसेड दिया | वो चिल्ला पड़ी | मैंने तुरंत ही उसका मुंह बंद किया की कहीं कोई सुन न ले | अब मैंने झटके देने शुरू कर दिए | वो भी मजे लेने लगी | थोड़ी देर बाद वो झड गयी | मैंने भी अपना लंड उसकी चूत से निकाल कर बेड पर झाड दिया और उसको बाँहों में लेकर सो गया | सुबह लगभग 4 बजे हमने फिर से चुदाई की और उसके बाद मैं वापस अपने मकान में उसी रस्ते आ गया | अब जब भी मैं वहां जाता हूँ, हम चुदाई के मजे लेते हैं |

दोस्तों ये थी मेरी कहानी |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *