लड़की की हेल्प करके उड़ाया

लड़की की हेल्प करके उड़ाया

hindi sex stories नमस्कार पाठकों कैसे हो आप सभी लोग ? मैं आशा करता हूँ की आप लोग ठीक ही होगे | आप लोगो को चुदाई करना तो पसंद ही होगा अगर पसंद है तो चुदाई तो करते ही होगे | मेरे कुछ दोस्त हैं जिनको चुदाई के लिए टाइम नहीं निकाल पाते हैं | मैं उन लोगो को बताना चाहता हूँ की आप लोग भी चुदाई का पूरा मज़ा लेते रहो | मेरा नाम राहुल है | मेरी उम्र 22 साल है | मैं रहने वाला कश्मीर का हूँ | मैं बी ऐ फस्ट इयर में पढता हूँ | मैं दिखने में गोरा हूँ और मेरी हाईट 6 फुट 9 इंच है | मैं जिम जता हूँ इस लिए मेरी बॉडी भी ठीक ठाक है जिससे में ज्यादा स्मार्ट लगता हूँ | मैं अपने मम्मी पापा की इकलोती संतान हूँ | इसलिए मेरे मम्मी पापा मुझे बहुत प्यार करते हैं | मैं काफी दिनों से सेक्सी कहानियाँ और सेक्सी मूवी देखता आ रहा हूँ जिससे मुझे भी अपनी कहानी लिखने की ख्वाहिश है | जो आज मेरी पूरी हो रही है | ये मेरी पहली कहानी है और मेरे जीवन की सच्ची घटना | ये मेरी पहली कहानी है तो आप सभी लोगो को इसमें गलती भी नज़र आयेंगी अगर आप लोगो को इसमें गलती नज़र आती है तो मुझे माफ़ करना | मैं आशा करता हूँ की आप सभी लोगो को मेरी कहानी पसंद आयेगी और इस कहानी को पढने में मज़ा भी आयेगा | मैं आप लोगो का ज्यादा समय न लेते हुए सीधे अपनी कहानी पर आता हूँ |

ये कहानी कुछ दिन पहले की है | जब मैं अपने घर से कॉलेज के लिए जा रहा था | तब मुझे एक रास्ते में लड़की मिली जिसकी गाड़ी ख़राब हो गयी थी | तब वो मुझसे बोली मेरी गाड़ी ख़राब हो गयी है | मुझे मेरे होटल तक छोड़ दो तो मैंने कहा ठीक है बैठो और वो मेरी गाड़ी में बैठ गयी | फिर मैंने उससे उसका नाम पूछा तो उसने अपना नाम स्वीटी बतया | वो अपने नाम की तरह ही स्वीट थी | उसका मस्त सेक्सी फिगर था | उसके बड़े बड़े बूब्स और उसकी बड़ी चौड़ी गांड जिसको देख कर किसी का भी नियत ख़राब हो जाये | वो मुझको बड़ी सेक्सी नज़रो से देख रही थी | तब मैंने उससे पूछा जी आपको कहाँ जाना है | तब उसने अपने होटल का मुझे रास्ता बतया और मैं उसको छोड़ने के लिए चल दिया | रास्ते में वो मेरे लंड की और देख रही थी | मैं तो समझ गया की ये चुदना चाहती है | फिर मैं उसको उसके होटल तक छोड़ने आया | जब मैं उसको उसके होटल छोड़ कर जाने लगा तो उसने मुझसे कहा अन्दर तक चलो चाय पी लो फिर चले जाना | तो मैं उसके रूम में गया तो उसने चाय के लिए कॉल की और कुछ ही देर में चाय लेकर आ गया | तब वो मुझसे बोली की आप चाय पियो मैं कपडे बदल आती हूँ और वो कपडे बदलने चली गयी |

मैं चाय पी ही रहा था की उसको देख कर मेरे तो होश उड़ गए | वो मेरे सामने ब्रा और पेंटी में आ गयी और मेरे पास बैठ कर मेरे होठो को अपनी उँगलियों से टच करने लगी | तब मेरा लंड खड़ा हो गया और वो मेरे होठो को टच करती हुई मेरे मेरी गर्दन में किस करने लगी जिससे मेरे शरीर में करंट लग गया | वो धीरे धीरे मेरी गर्दन पर किस करती हुई मेरे शर्ट की बटन खोल दी और मेरे सीने पर किस करती हुई | उसके कुछ देर बाद वो मेरे होठो पर अपने होठ रख कर मुझे किस करने लगी | मैं भी उसकी होठो को चूसते हुए उसके बूब्स को ब्रा के ऊपर से दबाने लगा | मैं उसकी होठो को चूस रहा था और वो मेरी होठो को चूसने के साथ में मेरे लंड को पेंट के ऊपर से मसल रही थी | कुछ देर तक में उसको किस करता रहा और वो मेरे लंड को सहलाती रही | फिर मैंने उसका ब्रा खोल दिया और उसके एक दूध को मुंह में रख कर चूसने लगा दुसरे को हाथ में पकड कर मसलने लगा | वो मेरे लंड को पेंट के बाहर निकाल कर हिला रही थी | मैं उसके दूध को एक एक करके मुंह में रख के चूस रहा था | वो मेरे लंड को हिलाती हुए अपने दूध को चूसा रही थी | मैं उसके दोनों दूध को कुछ देर तक चूसता रहा | फिर मैंने उसकी पेंटी को निकाल कर उसकी टांगो को थोडा सा फेला कर उसकी चूत में अपने मुंह को घुसा कर उसकी चूत को चाटने लगा | मैं उसकी चूत में अपनी जीभ को घुसा कर उसकी चूत को अपनी जीभ से चोदने लगा | तो वो उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उह्ह्हह्ह ह्ह्ह्हह फफफफ फफफफ ह्ह्ह्ह उह्ह्ह्हू उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह अह्ह्ह्हह अह्ह्ह्ह उह्ह्हह्ह उह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्हह्ह श्ह्ह्ह अह्ह्ह हूह अह्ह्ह अह्ह्ह्ह ह्ह्ह फफफफ उह्ह्ह्ह करने लगी | मैं उसकी चूत में अपनी जीभ को घुसा कर अन्दर बाहर करते हुए उसकी चूत को चोद रहा था | कुछ देर बाद मैंने उसकी चूत में अपनी ऊँगली को अन्दर घुसा कर उसकी चूत में अपनी ऊँगली को आदर बाहर करने लगा | तो उसके मुंह से उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उह्ह्हह्ह ह्ह्ह्हह फफफफ फफफफ ह्ह्ह्ह उह्ह्ह्हू उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह अह्ह्ह्हह अह्ह्ह्ह उह्ह्हह्ह उह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्हह्ह श्ह्ह्ह अह्ह्ह हूह अह्ह्ह अह्ह्ह्ह ह्ह्ह फफफफ उह्ह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह अह्ह्ह की सिसिकियाँ निकल गयी | मैं उसकी चूत में अपनी ऊँगली को अन्दर बाहर करते हुए उसकी चूत को चोदने लगा | कुछ देर तक मैं उसकी चूत में ऐसे ही ऊँगली को अन्दर बाहर करता रहा | वो उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उह्ह्हह्ह ह्ह्ह्हह फफफफ फफफफ ह्ह्ह्ह उह्ह्ह्हू उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह अह्ह्ह्हह अह्ह्ह्ह उह्ह्हह्ह उह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्हह्ह श्ह्ह्ह अह्ह्ह हूह अह्ह्ह अह्ह्ह्ह ह्ह्ह फफफफ उह्ह्ह्ह अहह करती हुई अपने बूब्स को दबाती रही | फिर मैंने अपनी ऊँगली को उसकी चूत से निकाल कर उसके मुंह में डाल कर चुसाने लगा | फिर मैंने अपने कपडे निकाल कर अपने लंड को उसके मुंह में डाल कर चुसाने लगा | वो मेरे लंड को अपने मुंह में रख कर चूसने लगी | वो मेरे लंड के टोपे पर अपनी जीभ को रगड़ने लागी तो मेरे मुंह से सिसिकियाँ निकाल गयी | वो मेरे लंड को मुंह में रख कर अन्दर बाहर करती हुई चूसने लगी | तब मैं भी उसके मुंह में धीरे धीरे धक्के मारने लगा और उसके मुंह को चोदने लगा | मैं उसके मुंह को कुछ देर तक ऐसे ही चोदता रहा | फिर उसके मुंह से लंड को निकाल कर उसकी टांगो को थोडा सा फेला कर उसकी चूत के ऊपर लंड को रख कर उसकी चूत में लंड को अन्दर घुसा कर चोदने लगा | तो उसके मुंह से उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उह्ह्हह्ह ह्ह्ह्हह फफफफ फफफफ ह्ह्ह्ह उह्ह्ह्हू उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह अह्ह्ह्हह अह्ह्ह्ह उह्ह्हह्ह उह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्हह्ह श्ह्ह्ह अह्ह्ह हूह अह्ह्ह अह्ह्ह्ह ह्ह्ह फफफफ उह्ह्ह्ह अहह उह्ह्ह उफ़ अहह की सिसिकियाँ निकाल गयी | मैं उसकी चूत में लंड से धीरे धीरे अन्दर बाहर करते हुए उसको चोदने लगा | वो अपने बूब्स को मसलती हुई उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उह्ह्हह्ह ह्ह्ह्हह फफफफ फफफफ ह्ह्ह्ह उह्ह्ह्हू उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह अह्ह्ह्हह अह्ह्ह्ह उह्ह्हह्ह उह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्हह्ह श्ह्ह्ह अह्ह्ह हूह अह्ह्ह अह्ह्ह्ह ह्ह्ह फफफफ उह्ह्ह्ह करने लगी | मैं उसकी चूत में अपने लंड को जोर जोर से अन्दर बाहर करते हुए उसको चोदने लगा | तो उसके मुंह से धीमी धीमी आवाज में उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उह्ह्हह्ह ह्ह्ह्हह फफफफ फफफफ ह्ह्ह्ह उह्ह्ह्हू उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह अह्ह्ह्हह अह्ह्ह्ह उह्ह्हह्ह उह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्हह्ह श्ह्ह्ह अह्ह्ह हूह अह्ह्ह अह्ह्ह्ह ह्ह्ह की सिसिकियाँ लेती हुई अपनी चूत को सहलाने लगी | मैं उसकी चूत में कुछ देर तक ऐसे ही धक्के मारता रहा | फिर उसकी चूत से अपने लंड को बाहर निकाल कर उसके मुंह में डाल कर चूसाने लगा | मैं अपने लंड को कुछ देर तक चुसाने के बाद मैं बेड पर लेट गया और वो मेरे लंड पर बैठ कर चुदाने लगी साथ में उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उह्ह्हह्ह ह्ह्ह्हह फफफफ फफफफ ह्ह्ह्ह उह्ह्ह्हू उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह अह्ह्ह्हह अह्ह्ह्ह उह्ह्हह्ह उह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्हह्ह श्ह्ह्ह अह्ह्ह हूह अह्ह्ह अह्ह्ह्ह ह्ह्ह फफफफ उह्ह्ह्ह कर रही थी | वो मेरे लंड पर ऊपर नीचे होते हुए चुद रही थी | मैं भी उसकी चूत में नीचे से अन्दर बाहर करते हुए उसको चोदने लगा जिससे कमरे में जोर जोर से धक्को की आवाज घुजने लगी | वो मेरे लंड पर ऊपर नीचे होती हुई चुद रही थी साथ में उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उह्ह्हह्ह ह्ह्ह्हह फफफफ फफफफ ह्ह्ह्ह उह्ह्ह्हू उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह अह्ह्ह्हह अह्ह्ह्ह उह्ह्हह्ह उह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्हह्ह श्ह्ह्ह अह्ह्ह हूह अह्ह्ह अह्ह्ह्ह ह्ह्ह फफफफ उह्ह्ह्ह की सिसिकियाँ ले रही थी और मेरे लंड पर ऊपर नीचे होती हुई चुदने लगी | मैं भी नीचे से जोर जोर से धक्के मार रहा था | वो उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उह्ह्हह्ह ह्ह्ह्हह फफफफ फफफफ ह्ह्ह्ह उह्ह्ह्हू उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह अह्ह्ह्हह अह्ह्ह्ह उह्ह्हह्ह उह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्हह्ह श्ह्ह्ह अह्ह्ह हूह अह्ह्ह अह्ह्ह्ह ह्ह्ह फफफफ उह्ह्ह्ह करती हुई चुदने लगी | मैं उसकी चूत में कुछ देर तक ऐसे ही उसको चोदता रहा फिर उसकी चूत से लंड को निकाल कर उसके मुंह में डाल कर लंड को चूसने लगा | वो मेरे लंड को मुंह में अन्दर बाहर करती हुई चूसने लगी | इस तरह से 40 मिनट की मस्त चुदाई के बाद मेरे लंड ने सारा माल उसके मुंह में ही निकाल दिया |

ये थी मेरी कहानी | मैं आशा करता हूँ की आप लोगो को मेरी कहानी पसंद आई होगी और पढने में मज़ा भी आया होगा | कहानी पढने के लिए धन्यवाद |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *