चचेरी भाभी की मस्त चुदाई

चचेरी भाभी की मस्त चुदाई

bhabhi sex stories, antarvasna

नमस्कार दोस्तों मेरा नाम मुरली है | मुझे सेक्स कहानिया बहुत ही पसंद है | मैंने सोंचा क्यूँ ना मैं भी अपनी एक सच्ची कहानी लिखता हूँ | तो आज मैं आप लोगो के लिए अपनी कहानी लेकर आया हूँ | मैं आशा करता हूँ की आपको पसन्द आएगी | मैं जिला चंपारण का रहने वाला हूँ और मेरी उम्र 24 साल है | मैं आपको बता दूं की मैं दिखने में बहुत ही हैण्डसम हूँ | मुझसे भाभियाँ बहुत ही जल्दी इम्प्रेस हो जाती है | मैंने कई आंटियों की भी प्यास बुझाई है पर आज की कहानी मेरी चचेरी भाभी की है |

मैं आपको बता दूं की वो बहुत ही खूबसूरत और सेक्सी माल है | उनका नाम सरोजनी है | उनकी उम्र लगभग 28 साल होगी और उनका फिगर 34-30-36 है | वो मेरे चचेरे भाई की पत्नी है और वो मेरे घर के पास में ही रहती है | वो मुझे बहुत लाइन देती थी और जब भी मैं उनके घर जाता था तो वो मुझे हमेशा कहीं गुदगुदा देती थी तो कही मेरे गाल पर किस कर लेती थी | पर मैं हमेशा समझता था की ये मजाक कर रही है | एक दिन की बात है मैं किसी काम से उनके घर गया हुआ था | मैंने देखा की घर में कोई नहीं है मैंने भाभी को कई आवाज भी दी पर कोई नहीं था | मैं सोफे पर बैठ गया और टीवी देखने लगा तभी मैंने देखा की भाभी का मोबाइल रखा हुआ था | मैंने सोंचा की चलो भाभी का मोबाइल चेक करते है | मैंने भाभी का मोबाइल उठाया उसमे लॉक पड़ा हुआ था | मैंने कोसिस की तो लॉक खुल गया | मैंने उनके मोबाइल की गैलरी खोलकर देखी तो मेरी ऑंखें फटी की फटी रह गयी |

उनके मोबाइल में बहुत सी ब्लू फिल्म्स पड़ी थी | मैंने सोंचा की भाभी ये सब नहीं देखती होंगी शायद भैया ने ये सब डाउनलोड की हो | फिर मैंने आगे खोलकर देखा तो मैं दंग रह गया | भाभी की कुछ नंगी तस्वीरे थी जो भाभी ने नंगे होकर सेल्फी ली थी | भाभी की चूत देखकर मेरा लंड खड़ा हो गया | मैंने भाभी की सभी तस्वीरो को देखा क्या मस्त बूब्स थे उनके मुझे उनकी चूत का सुरूर चढ़ने लगा था | मैंने मन में ठान लिया की अब भाभी की चुदाई करनी है | मैंने सारी तस्वीरे अपने मोबाइल में डाल ली फिर मुझे लगा की कोई आ रहा है मैंने मोबाइल रख दिया | मैंने देखा की भाभी आ गयी है मैंने भाभी से पूछा की आप कहाँ गयी थी | उन्होंने बताया की पड़ोस में कुछ काम था इसीलिए वहां गयी थी | फिर मैं वहां से चला आया मैंने अपने बाथरूम में जाकर उनकी तस्वीरे देखकर मुठ मारी तब जाकर मेरा लंड शांत हुआ | मैं सोंचने लगा की आखिर भाभी की चुदाई कैसे की जाए | मैं अब रोज भाभी के घर जाने लगा भाभी हमेशा की तरह मुझसे मजाक करती और कभी मैं उनके बूब्स में हाँथ लगा देता तो कहनी मैं उनके चूतडो में हाँ लगा देता |

भाभी मुझे कुछ नहीं कहती थी मैं समझ गया की वो भी मुझसे चुदना चाहती है | एक दिन की बात है मैं उनके घर पहुंचा तो नहा रही थी | उन्होंने मुझसे कहा की मुरली मेरे रूम से टावल उठा देना | मैं उनके रूम में गया और उनको टावल लाकर दी | फिर वो नहाकर बाहर निकली उन्होंने सिर्फ टावल ही लपेट रखी थी | वो अपने रूम में चली गयी और कपडे पहनने लगी उनके रूम का दरवाज थोडा सा खुला था | मैं जाकर दरवाजे के पास खड़ा हो गया और उनको देखने लगा | उन्होंने अपने शारीर से टावल हटा दी और अपने बूब्स को रगड़ कर पोछने लगी | फिर उन्होंने अपने पूरे शरीर को पोछा और बॉडी लोशन लगाने लगी | बॉडी लोशन लगाते हुए वो अपने बूब्स को मसल रही थी फिर वो अपनी चूत को सहलाने लगी | उनको देखकर मेरा लंड पैंट फाड़ रहा था और मुझसे कंट्रोल नहीं हुआ तो मैं उनके रूम में घुस गया | मुझे देखते ही उन्होंने खुद को टावल से ढक लिया और मैं भी अनजान बनते हुए पीछे की तरफ मुड कर खड़ा हो गया |

मैंने उनसे कहा की सॉरी भाभी मैंने सोंचा की आप कपडे पहन चुकी होंगी | उन्होंने कहा कोई बात नहीं फिर उन्होंने पैंटी पहन ली और मुझको बुलाया और कहने लगी की मेरी ब्रा के हुक लगा दो | मैंने कहा नहीं भाभी मुझे शरम आती है | उन्होंने कहा इसमें शरम की क्या बात है तूने मुझे बिना कपड़ो के तो देख ही लिया है | फिर मैं उनके पास गया और उनके ब्रा के हुक लगाये |  उन्होंने मेरे लंड पे नजर डाली जो की एकदम तना हुआ था | उन्होंने मुझसे बैठने को कहा मैं उनके बेड पर बैठ गया वो भी मेरे पास बैठ गयी | मैं उनके बूब्स को देख रहा था मेरी नजर उनके बूब्स से हट ही नहीं रही थी | उन्होंने मुझसे पूछा की मुरली तुमने कभी किसी के साथ सेक्स किया है | मैने बहाना बनाते हुए कहा की ये क्या होता है | तो भाभी हसने लगी और कहने लगी की तुम ये भी नहीं जानते की सेक्स क्या होता है |

मैंने कहा की नहीं भाभी मैं नहीं जानता तो उन्होंने मुझसे कहा की चलो आज मैं तुमको बताती हूँ | उन्होंने मेरे लंड पर हाँथ रखा और सहलाने लगी | उन्होंने मुझसे पैंट निकालने को कहा मैंने उनसे कहा की ये आप क्या कह रही है मुझे शरम आ रही है | उन्होंने कहा की तुमको सीखना है की नहीं फिर उन्होंने मेरी पैंट खुद ही निकाल दी | उन्होंने मेरे अंडरवियर को निकाला और मेरे लंड को देखकर वो कहने लगी की तेरा लंड तो बहुत बड़ा है | फिर उन्होंने मेरे लंड को अपने मुहँ में डाल लिया और उसको चूसने लगी | वो मेरे लंड को हिला रही थी और मस्ती से चुसे जा रही थी | मैंने थोड़ी ही देर बाद मैं उनके मुहँ में झड गया और मेरे माल से उनका पूरा मुहँ भर गया था | वो मेरा सारा माल पी गयी और मेरे लंड को चाट कर साफ़ किया | उन्होंने मेरे लंड को चूस कर फिर से खड़ा किया फिर उन्होंने मुझसे अपने बूब्स चूसने को कहा | मैंने उनकी ब्रा निकाल दी और उनके बूब्स को अपने मुहँ में लेकर उनको चूसने लगा | मुझे बहुत मजा आ रहा था और फिर मैंने उनकी पैंटी में हाँथ डाल दिया और उनकी चूत को सहलाने लगा | वो गरम होने लगी थी और उनके मुहँ से मादक सिसकियाँ निकल रही थी |

उन्होंने मुझसे कहा की तुम मुझसे झूंठ बोल रहे थे की तुमको सेक्स करना नहीं आता | मैंने कहा की भाभी अगर मैं झूंठ नहीं बोलता तो क्या तुम ये सब मुझे करने देती और मैंने उनकी चूत में ऊँगली डाल दी और अन्दर-बाहर करने लगा | मैंने कहा साली रंडी मुझे पता है की तेरे बहुत आग लगी है | मैंने देखा था तेरे मोबाइल में ब्लू फिल्म पड़ी है और तेरी नंगी तस्वीरे मैंने जब से देखी हैं तब से मैं तेरी चूत का दीवाना हो गया हूँ | फिर मैंने उनसे कहा की चल अब अपनी चूत तो मुझे दिखा जरा और मैंने उनकी पैंटी निकाल दी | क्या मस्त गुलाबी चूत थी उनकी बिलकुल गुलाब की पंखुड़ियों जैसी मैंने उनकी चूत पर अपना मुहँ रख दिया और उसको चूसने लगा | मै अपनी जीभ से उनकी चूत के दानो को सहलाने लगा | वो एकदम पागल सी हो गयी थी और मचलने लगी थी | वो मुझसे कहने लगी की अब मुझे मत तडपाओ मेरे रजा मुझ से रहा नहीं जा रहा अब लंड डाल दो मेरी चूत में और बुझा दो मेरी प्यास | मैंने कहा सल्ली रंडी,बहन की लौड़ी बहुत जल्दी है तुझको लंड लेने की |

मैंने कहा की अभी तो मैंने सुरु किया है और फिर मैंने उनकी चूत में अपनी जीभ डाल दी और उनकी चूत को अपनी जीभ से चोदने लगा | मुझे बहुत ही मजा आ रहा था मैं उनकी चूत को अपनी जीभ से चोद रहा था और उनके मुहँ से आह्ह्ह ओह्ह्ह की मादक आवाजे निकला रही थी | उनकी आवाजे सुनकर मेरा जोश और बढ़ने लगा फिर मैं उनकी चूत को और जोर से चाटने लगा | थोड़ी देर बाद उनका पूरा बदन अकड़ने लगा और उन्होंने मेरे सिर को अपनी चूत पर दबा लिया और वो झड गयी | मैंने उनका सारा रस चाट लिया और उनकी चूत को चाटकर साफ़ कर दिया | उनकी चूत का रस थोडा नमकीन था | उसके बाद मैंने अपना लंड उनकी चूत पर रखा और रगड़ने लगा | वो मदहोश होने लगी उन्होंने मुझसे कहा भोसड़ी के कितना तडपायेगा मदरचोद अब डाल भी दे | मैंने एक झटके में उनकी चूत में अपना लंड पेल दिया | उनके मुहँ से चीख निकल गयी पर मैं जोर से धक्के लगाने लगा | मैंने कहा ले साली रंडी बहुत जल्दी थी युझे लंड लेने की | मैं जोर-जोर से उनकी चूत को चोदने लगा | उनके मुहँ से आह्ह्ह ओझ्ह्ह्ह येश्ह्ह की आवाजे निकला रही थी | मैंने लगातार 20 मिनट उनकी चूत मारी फिर वो झड गयी | मैंने अपना लंड निकाल कर एक दम से उनकी गांड में डाल दिया वो चिला पड़ी और कहने लगी सल्ले मादरचोद तूने मेरी गांड फाड़ दी | साले निकाल इसे मुझे बहुत दर्द हो रहा है पर मैंने उनकी एक भी नहीं सुनी और धक्के लगता रहा | फिर थोड़ी देर बाद मैं उनकी गांड में ही झड गया | वो मेरी चुदाई से बहुत संतुष्ट थी उन्होंने मुझे किस किया और कहने लगी की आज तक इतना मजा मेरे पति ने भी नहीं दिया आज से तुम मेरे पति हो तुम जब चाहो मेरी चुदाई कर सकते हो | फिर हम दोनों ने साथ में नहाया और बाथरूम में मैंने उनकी फिर से चुदाई की |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *