अपने पति के दोस्त का लंड अपनी गांड और चूत में लिया

अपने पति के दोस्त का लंड अपनी गांड और चूत में लिया

gaand chudai हेल्लो दोस्तों कैसे आप ? मैं आशा करती हूँ की आप लोग ठीक ही होगे | जो कहानी मैं लिखने जा रही हूँ मैं आशा करती हूँ की आप लोगो को पसंद आयेगी और पढने में आप लोगो का मन भी उत्तजित करेगी | मेरा नाम सपना है | मेरी उम्र 28 साल है | मैं देखने में सेक्सी हूँ और मेरे शादी हो चुकी है | मैं अपने पति से रोज चुदती हूँ और चुद चुद कर चुदक्कड हो गयी हूँ | मुझे अब रोज नया लंड अपनी चूत और गांड में लेना पसंद है | मेरा फिगर 40 38 44 है | मैं रहने वाली लखीमपुर की हूँ | अब मैं आप लोगो का ज्यादा समय न लेते हुई सीधी अपनी कहानी पर आती हूँ |

ये कहानी कुछ दिन पहले की है जब मेरे पति के साथ उनका एक दोस्त आया था | उसका नाम संजीव था | वो दिखने में काफी स्मार्ट था | उसका रंग गोरा था जिससे वो बहुत अच्छा लगता था | मैं उससे पहले भी चुद चुकी थी जिससे मुझे उसके लंड का साइज़ भी पता है | उसके लंड का साइज़ 8 इंच और 3 इंच मोटा है | उस दिन वो मेरी पति के साथ मेरे घर पर फिर आया तो मैंने सोचा की आज फिर मैं इसका लंड अपनी चूत और गांड में लुंगी मुझे अपनी गांड मरवानी बहुत अच्छा लगता है | फिर मेरे पति और वो बैठ कर बात करने लगे कुछ देर तक बात करते रहे | तब मैं चाय बना कर ले आई | तो दोनों ने चाय पी और घुमने चले गए | मैं उसके आने का इंतजार करने लगी | फिर वो लोग बहुत देर में आये और साथ में अपने दारू और कुछ खाने को लेकर आये | उसके बाद वो लोग पीने के लिए बैठ गए | तब मेरे पति ने मुझे पेग बानाने को कहा | फिर मैं उनके लिए पेग बनने लगी वो जब पीने लगे तो मैंने सजीव को पीने से माना कर दिया और उसने नहीं पी फिर मैं उनको पेग पर पेग बना कर देती गयी वो पीते गए | कुछ ही देर में वो इतने नशे में हो गये की उनसे गिलास तक नहीं पकड़ा जा रहा था | तब मैं संजीव के साथ अपने रूम में गई | वहां हम टीवी में सेक्सी मूवी देखने लगे और संजीव मेरे होठो पर अपने होठ रख कर किस करने लगा | संजीव मेरे बूब्स पकड़ा कर दबने लगा था | मैं संजीव की होठो पर किस करने लगी |

संजीव मुझे किस करने लगा साथ में वो मेरे बूब्स को कपडे के ऊपर से दाबाने लगा साथ ही मे वो मेरी चूत को कपडे के ऊपर से सहलाने लगा था जिससे मेरे मुंह से की ऊऊह्ह ईह्ह्ह्हह आआह्ह्ह्ह ऊऊऊफ़्फ़्फ़ ईईह्ह्ह ऊओह्ह्ह्ह म्म्मीईईइ ऊऊओह्ह्ह ईईईइह्ह्ह ऊऊउईईईइ आआह्ह्ह्ह ऊऊऊह्ह ऊऊऊईई की सिसिकियाँ निकलने लगी | मैं अपने मुंह में अपनी ऊँगली को डाल कर चूस रही थी | उसके बाद उसने मेरे कपड़े निकाल दिये | मैं उसके सामने ब्रा और पेंटी में हो गयी | वो मेरे बूब्स को दाबाने लगा साथ में मेरे बूब्स के निप्पल को भी चूस रहा था | वो मेरे बूब्स को इस तरह से मसल रहा था तो मेरे मुंह से ऊओफ़्फ़्फ़ आआह्ह्ह्ह ऊऊह्ह्ह्ह ईइह्ह्ह्ह ऊऊऊईईइ ऊऊउफ़्फ़्फ़ ईह्ह्ह्हह ऊऊईईई आह्ह्ह्हह्ह आआआह्ह्ह्ह ऊऊऊह्ह्ह आआअह्ह्ह्ह ह्हह्ह्हा ऊऊओईई ऊऊउह्ह ऊऊऊ ऊऊउईईइ करने लगी थी | फिर उसने मेरी ब्रा भी निकाल दी जिससे मेरे बड़े बूब्स उछल कर उसके सामने आ गए | वो मेरे बूब्स को दबते हुवे चूस रहा था साथ में मेरी चूत में भी ऊँगली घुसा कर अन्दर बाहर कर रहा था | मैं अपने मुंह से ऊउफ़्फ़्फ़्फ़ आआआह्ह्ह्ह ऊऊऊह्ह्ह आआअह्ह्ह्ह ह्हह्ह्हा ऊऊओईई आआ आआआह्ह्ह्ह ऊऊऊह्ह्ह आआअह्ह्ह्ह ह्हह्ह्हा ऊऊओईई आह्ह्ह्ह ऊऊऊह्ह्ह आआअह्ह्ह्ह ह्हह्ह्हा ऊऊओईई ऊऊऊह्ह्ह्ह ईईई आआआह्ह ऊऊओह्ह्ह ह्हह्ह्हा ह्हह्ह्ह्यय्य्य्य ऊऊओह्ह्ह्ह करती हुई | उसके लंड को पेंट के ऊपर से मसल रही थी | फिर उसने अपनी पेंट खोल कर अपने लंड को बाहर निकाल दिया | तब मैंने उसके लंड को पकड कर कुछ देर तक हिलाती रही | फिर उसके लंड को अपने मुंह में रख कर चूसने लगी | उसके लंड को अन्दर बाहर करती हुई मस्ती से चूस रही थी | कुछ देर बाद उसने मेरा सर पकड कर अपने लंड पर मेरे सर को हिलाने लगा जिससे मेरे मुंह में उसका आधा लंड घुस गया और मेरे मुंह से ऊउह्ह्ह्ह आआह्ह्ह्ह ऊऊऊउह्ह्ह ह्हह्ह्हा आआआअह ऊऊऊह्ह्ह आआआह्ह्ह्ह ऊऊऊह्ह्ह आआअह्ह्ह्ह ह्हह्ह्हा ऊऊओईई ऊऊह्ह्ह्ह आआअह्ह्ह्ह ऊऊऊउह्ह्ह्ह ऊऊह्ह्ह्ह ऊऊऊह्ह्ह्ह आआआह्ह्ह्ह आआआह्ह्ह्ह ऊऊऊओईईइ ऊऊऊईई आआआअह्ह करने लगी | फिर कुछ देर के बाद वो मेरी चूत को चाटने लगा और मेरी चूत में अपनी ऊँगली घुसा कर अन्दर बाहर करने लगा | मेरे मुंह से ऊऊऊह्ह्ह्ह ऊऊउह्ह ऊऊउह्ह आआअह्ह ह्हह्ह्हा आआआह्ह आआह्ह्ह ऊऊओह ऊऊऊउह्ह ऊऊउह्ह आआआह्ह आआअह्ह्ह ऊऊओईई ऊऊऊह्ह्ह आआआह्ह्ह ऊऊईईई आआअह्ह्ह ह्ह्ह्यय्य्य्य य्य्य्यह्हह्ह्ह की आवाजे निकलने लगी | वो मेरी चूत में जोर जोर से अपनी ऊँगली को अन्दर बाहर कर रहा था | मैं मज़े में ऊऊह्ह्ह आःह ऊऊउह्ह आआह्ह्ह ऊऊह्ह्ह्ह आआअह्ह्ह ऊऊईइ आआआह्ह्ह ऊऊऊह्ह्ह्ह ऊऊआअ आआअ ऊऊईई आआअह्ह किये जा रही थी | कुछ देर तक वो ऐसे ही मेरी चूत को चाटता रहा | फिर उसने मुझे बेड पर लेटा कर मेरी दोनों टांगो को फेला कर उसने मेरी चूत के मुंह पर अपने लंड को रख कर जोरदर धक्के से मेरी चूत में अपना पूरा लंड अन्दर घुसा दिया | तभी उसने कहा थैंक्स तो मैंने पूछा किसे बोल रहे हो | वो बोला अपने दस्तो को जो मुझे अपनी बीबी को चोदने दे रहा है | तब मैं बोली थैंक्स उसे नहीं मुझे बोलो जो मैं तुम्हे अपनी चूत और गांड मारने देती हूँ | तब उसने कहा थैंक्स तब मैंने कहा ऐसे नहीं मेरी गांड में अपना लंड डाल कर थैंक्स बोलो तब उसने मेरी गांड में अपना लंड डाल कर जोर जोर के धक्के से मेरी गांड को चुदने लगा | फिर वो बोला तेरी गांड बहुत बड़ी हो गयी है | मैं बोली मैं अपनी गांड में तेरा ही लंड थोड़े लेती हूँ मुझे भी तो पता नहीं है की मैंने कितने लंड अपनी गांड में लिये हैं अभी तक | तू तो ऐसे बोला रहा है की मैं सिर्फ़ तेरा ही लंड लेती हूँ | फिर वो मेरी गांड में धक्के की स्पीड तेज करके चोदने लगा जिससे मेरे मुंह से हलकी हलकी आवाज में ऊऊह्ह्ह आआआह्ह ऊऊऊह्ह आआह्ह्ह ऊऊउह्ह आआह्ह्ह ऊऊउईईइ य्य्यय्ह्ह आआह्ह्ह ऊऊउह्ह ऊऊऊह्ह्ह आआययय आआअह्ह्ह ऊऊऊईई आआह्ह्ह्ह ऊह्ह आःह ऊउह्ह ऊईइ ऊउफ़्फ़्फ़ ऊउह्ह्ह आअह्ह्ह्ह करने लगी | उसने मेरी गांड से अपने लंड को निकाल कर मेरी गांड में अपनी दो ऊँगली डाल कर मेरी गांड को फेला कर गांड में थूक दिया | फिर मेरी गांड में दुबारा अपना लंड डाल कर जोरदर धक्को के साथ चोदने लगा जिससे मेरे मुंह से आआह्ह्ह्ह आआह्ह्ह आआह्ह्ह ऊऊउह्ह्ह ऊऊउह्ह्ह आआअह्ह यय्य्ह्ह आआअह्ह्ह ऊऊऊईई आआह्ह्ह्ह ऊह्ह आःह ऊउह्ह ऊईइ ऊउफ़्फ़्फ़ ऊउह्ह्ह आअह्ह्ह्ह ऊऊईइ ऊऊउई आअह्ह्ह्ह ऊउह्ह्ह आअह्ह्ह्ह ऊऊई ऊऊओह्ह्ह्ह ऊउह्ह आआह्ह आह्ह्ह्ह ऊऊईइ करती हुई चुद रही थी | कुछ देर तक वो जोर जोर के धक्को के साथ मुझे चोदता रहा फिर उसने धक्को की स्पीड धीरे धीरे कम कर दी | वो मेरी गांड से अपने लंड को निकाल कर बेड पर लेट गया | फिर मुझसे बोला की मेरे लंड पर बैठ कर चुदो और मैं उसके लंड पर बैठ कर चुदने लगी | मैं उसके लंड पर बैठ कर ऊपर नीचे होते हुवे चुदने लगी साथ में ऊऊह आह्ह्ह्ह ऊउह्ह्ह आअह्ह्ह्ह ऊउह्ह्ह आआह्ह्ह ऊऊउईई ऊऊऊईईइ आआह्ह्ह्ह आआअह्ह्ह ऊऊऊईई आआह्ह्ह्ह ऊह्ह आःह ऊउह्ह ऊईइ ऊउफ़्फ़्फ़ ऊउह्ह्ह आअह्ह्ह्ह ऊऊह्ह्ह आह्ह्ह की सिसिकियाँ लेती हुई | मैं उसके लंड पर उछल उछल कर चुदने लगी | फिर वो नीचे से मेरी गांड में जोर जोर से धक्के मारने लगा जिससे कमरे में फट फट की आवाज गुजने लगी | इस तरह कुछ देर तक चुदने के बाद उसने मुझे बेड पर लेटा कर मेरी चूत में लंड डाल कर चोदने लगा और साथ में मेरे बूब्स भी दबाने लगा जिससे मैं ऊऊउह्ह आह्ह्ह्ह ऊउह्ह्ह्ह आह्ह्ह्ह ऊह्ह्ह आह्ह्हह्ह इऊउह ऊऊईइ य्य्ह्हह आह्ह्ह ऊऊह्ह्ह ऊउह्ह्ह आअह्ह्ह्ह ऊऊईई आआआह्ह्ह्ह ऊऊऊह्ह्ह आआअह्ह्ह्ह ह्हह्ह्हा ऊऊओईई आह्ह्ह्ह ऊउह्ह्ह आअह्ह्ह्ह ऊउह्ह ह्हहा ऊउह्ह्ह आअह्ह्ह्ह ऊउह्ह्ह आह्ह्ह्ह करने लगी | कुछ देर में मेरी चूत से गर्म पानी निकलने वाला था | तो मैंने उससे लंड को बाहर निकलने को कहा और उसने अपने लंड को बाहर निकाल लिया | फिर मेरी चूत में अपनी ऊँगली डाल कर जोर जोर से अन्दर बाहर करने लगा | मेरी चूत से गर्म पानी निकल गया | वो अभी तक नहीं झाडा था | तो मैं उसका लंड अपनी गांड में लेकर चुदने लगी | वो जोर जोर के धक्के से चुदने लगा और मेरे मुंह से ऊऊह्ह अह्ह्ह ऊउह्ह्ह आःह्ह ऊउफ़्फ़ ऊऊह्ह आआह्ह ऊफ्फ्फ्फ़ आआह्ह्ह ऊऊउईइ आआआह्ह्ह्ह ऊऊऊह्ह्ह आआअह्ह्ह्ह ह्हह्ह्हा ऊऊओईई ऊउह्ह्ह्ह आआअह्ह ऊऊफ़्फ़्फ़ ऊऊईई आआह्ह्ह ऊऊफ़्फ़्फ़्फ़ आआह्ह्ह करने लगी | फिर 35 मिनट की चुदाई के बाद उसके के लंड ने अपना माल मेरी गांड के ऊपर ही निकाल दिया |

इस तरह से मैंने अपनी गांड की खुजली मिटाई और मैं रोज ही कोई नया लंड अपनी गांड और चूत में लेती हूँ | दोस्तों मैं आशा करती हूँ की आप लोगो को मेरी कहानी पसंद आई होगी | कहानी पढने के लिये धन्यवाद |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *