भाभी के चुदाई की कहानी मेरी जुबानी भाग २

भाभी के चुदाई की कहानी मेरी जुबानी भाग २

भाभी मुझे देखकर बोली कि आ गया शेर शिकार करने, तो में मुस्करा गया. फिर वो बोली कि देखो शेर शरमाता भी है और मैंने उन्हे अपनी बाहों में भर लिया और उनके होंठो को चूसता रहा और दोनों हाथ से उनके बूब्स दबा रहा था और ज़ोर ज़ोर से दबा रहा था. तभी भाभी ने मुझे हटाकर कहा कि थोड़ा आराम से दबाओ, में कहीं नहीं भागी जा रही.

फिर मैंने कहा कि हाँ ठीक, आप तो यहीं हो, लेकिन टाईम तो भागा जा रहा है ना, तो वो हंस पड़ी और में फिर से उन्हे किस करने लगा और बूब्स को दबाने लगा और मेरा लंड टाईट हो गया. दोस्तों ऐसा करते करते दिन बीतते गए और मेरे एग्जाम हो गये और अब मेरा रिज़ल्ट आने वाला था तो रिज़ल्ट के एक दिन पहले दोपहर को में भाभी के पास गया. फिर वो बोली कि क्या बात है आज तू बड़ा उदास लग रहा है. फिर मैंने कहा कि हाँ.

भाभी : लेकिन ऐसा क्यों?

में : वो कल मेरा रिज़ल्ट आ रहा है.

भाभी : क्या इसलिए उदास है कि कहीं फेल ना हो जाए?

में : नहीं, इसलिए कि कही मेरा सपना ना टूट जाए?

भाभी : कौन सा सपना.

वही एक दिन आपके साथ सेक्स करने का सपना और हम दोनों हंस पड़े, तभी मैंने उन्हे गिफ्ट दिया तो उन्होंने खोला और उसमे देखा तो उसमे ब्रा और पेंटी थी. फिर भाभी ने कहा कि यह किसके लिए है? तो मैंने कहा कि यह आपके लिए है और अगर कल में पास हुआ तो जब हम सेक्स करेंगे, आप यह पहनना और अगर में फेल हुआ तो अपनी एक ब्रा, पेंटी मुझे दे देना तो में उसे सूंघकर आपके बदन की खुशबू लेता रहूँगा.

भाभी बोली कि तुम चिंता मत करो कल जो होगा देखा जाएगा, ज्यादा चिंता मत करो और उन्होंने मेरा एक हाथ अपने बूब्स पर रख दिए और बोला कि मेरे शेर आज तो मज़े ले लो और फिर में उनके बूब्स को बहुत ज़ोर ज़ोर से दबाने लगा और मैंने उनके होंठो को बहुत जमकर चूसा. फिर वो हाँफते हाँफते बोली कि धीरे मेरे शेर तुम्हे ऐसा मौका कल भी मिलेगा, उदास मत हो और में उनकी सुने बिना उनके बूब्स दबाता रहा और अगले दिन सुबह मेरा रिज़ल्ट आ गया और में 72% से पास हुआ.

में बहुत खुश हुआ और मैंने भाभी के घर पर जाकर उनसे कहा कि में 70% नहीं ला पाया. फिर उस समय भाभी किचन में आटा लगा रही थी और वो बोली कि कोई बात नहीं अगली बार फिर से मेहनत करो और पढ़ाई के साथ में सेक्स भी और वो हंसने लगी.

फिर में उनके पीछे गया और बोला कि मेरी जानेमन 70% नहीं 72% आए है और में उनकी गांड को सहलाने लगा और बूब्स दबाने लगा. फिर वो बोली कि अभी कोई देख लेगा, अभी नहीं दूर हटो और में दूर हट गया. फिर वो बोली कि सेक्स करने को मिलने की उम्मीद थी तो पढ़ाई हो गई, नहीं तो पढ़ाई का नाम भी नहीं था. फिर मैंने कहा कि यह सब आपकी मेहरबानी है, तभी मैंने पूछा कि कब शुरू करें? तो उन्होंने कहा कि सब्र करो, सब्र का फल मीठा होता है.

फिर मैंने कहा कि तो में अब तक क्या कर रहा था? तो वो हंस पड़ी और कहा कि तुम जाओ में तुम्हे शाम को कॉल करती हूँ. फिर में शाम को उसके कॉल का इंतजार करने लगा और फिर भाभी का कॉल आया तो वो बोली कि कल उनकी बेटी स्कूल जाएगी और अंकल ऑफिस जाएँगे, तो तुम 10 बजे आ जाना और तुम्हारे पास सिर्फ़ एक बजे तक का टाईम है. फिर में उनकी यह बात सुनकर बहुत खुश हुआ और भाभी से कहा कि आप बहुत अच्छी हो और उनसे कहा कि कल मेरे गिफ्ट वाले ब्रा और पेंटी पहनना.

उन्होंने कहा कि हाँ बाबा में वही पहन लूंगी, मेरे शेर अब तैयार हो जाओ. फिर में रात भर सो नहीं पाया और सुबह 9 बजे उनके पति के ऑफिस जाते ही में उनके घर पहुंच गया और भाभी मुझे देखकर कहने लगी कि तुम्हे तो बिल्कुल भी सब्र नहीं है. फिर मैंने कहा कि क्या करूं भाभी कंट्रोल ही नहीं होता? तो वो बोली कि थोड़ा इंतजार करो, मुझे अभी कुछ काम है.

फिर में उनका इंतजार करने लगा, लेकिन अब मुझसे रहा नहीं गया तो में सीधा किचन में चला गया और उनके पीछे खड़ा होकर उन्हे गले पर किस करने लगा. फिर बोली कि थोड़ा आराम से, लेकिन में अब कहाँ उनकी सुनने वाला था और में उन्हे अपनी तरफ करके लिप किस करने लगा और ज़ोर ज़ोर से बूब्स को दबाने लगा तो भाभी बोली कि धीरे मेरे शेर, आज तीन घंटे में तुम्हारी ही हूँ और में उनके पूरे चेहरे पर किस करने लगा और उनके सूट को उतारने लगा, लेकिन में नहीं उतार पा रहा था.

भाभी ने कहा कि रुको में उतारती हूँ, बेडरूम में चलो और हम बेडरूम में चले गये. फिर भाभी ने अपना सूट उतारा और मैंने अपने सारे कपड़े उतार दिए और अब भाभी ब्रा और पेंटी में थी और में पूरा नंगा था.

मेरा लंड देखकर भाभी बोली कि मेरे शेर का तो बहुत बड़ा और मोटा है और यह सुनते ही मुझसे रहा नहीं गया और में उनको किस करने लगा और बेड पर लेटा दिया और ब्रा के अंदर हाथ डालकर बूब्स दबाने लगा और में निप्पल को ज़ोर ज़ोर से दबाए जा रहा था, भाभी उफ्फ्फ्फफ्फ्फ़ अह्ह्हह्ह्ह्हह् उह्ह्हह्ह्ह्ह करने लगी और मैंने उनकी ब्रा को निकाल दिया और उनके बूब्स देखकर तो में एकदम दंग रह गया, एकदम गोरे और उस पर गुलाबी कलर के निप्पल और भूरे कलर के घेरे देखकर मुझसे रहा नहीं गया और में उनके बूब्स को चूसने लगा और एक बूब्स दबाने लगा, मैंने उनके निप्पल को काटा तो भाभी उईईईईइ माँ मर गई कहने लगी और ज़ोर ज़ोर से सिसकियाँ लेने लगी.

में उनकी नाभि पर किस करने लगा और उनकी चूत को पेंटी के ऊपर से रगड़ने लगा, में उनकी चूत की मदहोश कर देने वाली खुशबू को सूंघकर बहुत खुश था और मुझसे रहा नहीं गया और मैंने उनकी पेंटी को उतार दिया, में और उनकी चूत को देखकर दंग रह गया, उनकी क्या चूत थी यार एकदम गुलाबी और वो भी पूरी साफ और मेरी नजरें उनकी चूत से नहीं हट रही थी. तभी भाभी बोली कि क्या हुआ मेरे शेर रुक क्यों गए? में बोला कि कुछ नहीं और में उनकी चूत पर किस करने लगा और जीभ डालकर चूसने लगा और भाभी ज़ोर ज़ोर से मोनिंग कर रही थी, वो आहआह अह्ह्ह्हह्ह उईईईईई माँ मज़ा आ गया और चूस मेरे शेर और चूस और वो मेरा सर अपनी चूत में दबा रही थी.

दोस्तों वाह क्या स्वाद था उनकी चूत का, मुझे तो मज़ा आ गया. तभी भाभी बोली कि में झड़ रही हूँ और में उनका पूरा रस पी गया. फिर वो बोली कि तुमने मेरी चूत चूसकर मुझे खुश कर दिया और मेरी चूत आज किसी ने पहली बार चूसी है और तभी मैंने अपना लंड उनके मुहं में डाल दिया और बहुत देर तक चुसवाया और में भी उनके मुहं में ही झड़ गया और फिर हम एक दूसरे को किस करने लगे और हम 69 की पोज़िशन में आ गये.

फिर मैंने उनसे पूछा कि आपके यहाँ पर आईसक्रीम है क्या? तो वो बोली कि आईसक्रीम का क्या करोगे? तो मैंने कहा कि प्लीज आप बताओ ना और फिर वो बोली कि किचन के फ़्रीज़ में होगी. फिर में किचन से आईसक्रीम ले आया और उनकी नाभि पर रखकर उसे चूसने लगा. फिर भाभी बोली कि वाह क्या स्टाईल है मज़ा आ गया और ज़ोर से चूस आहआहआह उह्ह्हह्ह मेरे शेर और फिर मैंने आईसक्रीम उनकी चूत में डाली तो भाभी कांप उठी और बोली कि अहहह्ह्ह्हह्हह्ह्ह अईईईईईई.

मैंने उनकी चूत को चूसा तो वो मेरा सर अपनी चूत में दबाने लगी और कहने लगी कि खा जाओ मेरे शेर पूरी खा जाओ, मुझे आज चोद डालो आहआहआह आहआह ऊएऊएऊए ऊउईईईईई माँ. फिर मैंने उनको एक लिप किस किया और हम एक दूसरे के होंठ को चूस रहे थे. फिर मैंने उनकी चूत के ऊपर अपना लंड रखा तो भाभी बोली कि कंडोम पहन लो. फिर मैंने कहा कि नहीं यह मेरी पहली चुदाई है, इसलिए में ऐसे ही करूंगा. फिर भाभी बोली कि तो जो भी तुम्हे करना है करो, लेकिन अब रूको मत. फिर मैंने अपना लंड चूत पर रखकर एक जोरदार धक्का लगाया तो लंड एकदम फिसल गया.

फिर भाभी बोली कि थोड़ा धीरे मेरे शेर आराम से और उन्होंने मेरा लंड पकड़कर चूत के छेद पर रखकर कहा कि अब डालो. फिर मैंने जब धक्का मारा तो मेरा सिर्फ़ लंड का टोपा अंदर गया और भाभी चीख पड़ी, हाअह्ह्ह्हह्ह आराम से मेरे शेर और मैंने फिर एक धक्का मारा तो मेरा लंड अंदर गया और भाभी और चीखी, अहहहहह्ह्ह उईईईई मैंने और एक धक्का दिया तो मेरा पूरा लंड चूत के अंदर था और भाभी बोली कि में तो मर गई, तेरा तो सच में शेर जैसा है, अहहाहा उईईईईईई हहाऊएुउऊएउ.

में भाभी के ऊपर लेट गया और उनके होंठ को चूसने लगा और बूब्स दबाने लगा और जब भाभी की चूत का दर्द शांत हुआ तो में धक्के लगाने लगा, भाभी आहआहहह अब उह्ह्ह्ह माँ मर गई थोड़ा आराम से मेरे शेर और चोद और चोद फाड़ दे आज मेरी अहहहाहा ऊएऊएऊएऊए अहह्ह्ह्ह और तेज़ और ज़ोर से डाल और डाल और ज़ोर से अहहएआएआएआए और दस मिनट तक चोदने के बाद में भाभी के अंदर ही झड़ गया और भाभी को एक किस करके उनके पास में लेट गया और हम सो गये.

भाभी ने मुझे 12.30 बजे उठाया तो मैंने उन्हे बाहों में भर लिया और पूछा कि कैसा लगा? तो उन्होंने कहा कि इस तरह तो आज तक उनके पति ने भी नहीं चोदा, में खुश हुआ और उनको बेड पर लेटाकर किस करने लगा और बूब्स दबाने लगा तो वो बोली कि शेर अभी नहीं, अब बस बाकी बाद में मेरी बेटी स्कूल से आती होगी.

में उठा और पूछा कि क्या में अब आपको कभी भी चोद सकता हूँ? तो वो बोली कि हाँ, लेकिन जब हम अकेले हो और पढ़ाई भी करनी पड़ेगी और फिर मैंने उनको एक स्वीट लिप किस दिया और चला गया, लेकिन उस चुदाई के बाद मैंने अपनी पढ़ाई के साथ साथ भाभी को भी बहुत अच्छी तरह चोदा और हर बार मेरे अच्छे नंबर आने पर मुझे भाभी की तरह से अपनी जमकर चुदाई का गिफ्ट मिलता, जिससे हम दोनों बहुत खुश होते. फिर मैंने उनको बहुत बार चोदा और वो भी अपनी ख़ुशी से मुझसे चुदवाती, कभी बेडरूम में, तो कभी किचन में, तो कभी बाथरूम में, तो कभी छत पर और मैंने उनके घर के साथ साथ उनको मेरे घर पर भी बुलाकर चोदा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *