कॉलेज में गर्लफ्रेंड की चूत और गांड की मस्त चुदाई

कॉलेज में गर्लफ्रेंड की चूत और गांड की मस्त चुदाई

hindi sex stories

हेल्लो दोस्तों कैसे हो आप सभी लोग ? मैं आशा करता हूँ की आप सभी लोग ठीक ही होगे | दोस्तों आप सभी लोग अपनी लाइफ में इन्जॉय तो कर ही रहें होंगे | मैं उम्मीद करता हूँ की आप सभी लोग अपनी लाइफ में खुश होगे और अच्छे से इन्जॉय कर ही रहे होगे | दोस्तों मेरा नाम राहुल है | मेरी उम्र 24 साल है और मैं अभी पढाई करता हूँ | मैं रहने वाला उरई का हूँ | मेरी हाईट 6 फुट 3 इंच है | मेरे लंड का साइज़ 7 इंच लम्बा और मोटा 3 इंच है | मैं दिखने में गोरा हूँ और मेरी बॉडी भी ठीक ही है जिससे मैं स्मार्ट लगता हूँ | दोस्तों मैं आज एक अपनी कहानी आप सभी लोगो के सामने प्रस्तुत करने जा रहा हूँ | ये मेरी पहली कहानी है और मेरी जीवन की पहली चुदाई है तो दोस्तों मैं अपनी कहानी शुरू करता हूँ | मुझे उम्मीद है की आप सभी लोगो को मेरी कहानी तो पंसद आयेगी और इस कहानी को पढने में मज़ा तो आयेगा ही |

दोस्तों ये कहानी अभी पिछले साल की है जब मैं अपने कॉलेज में पढता था | जब मैं उरई में रहता था तो मेरी पढाई नही हो पा रही थी इसलिए मैं कानपूर में ही रूम रेंट पर लेके रहने लगा और वहां से मेरा कॉलेज भी पास में पड़ता था जिससे मैं अपने कॉलेज रोज ही जा पता था | मैं उस कॉलेज में नया था इसलिए मेरे वहां दोस्त भी नही थे तो मैं किसी के साथ नही रहता था और अकेला चुप चाप रहता था | दोस्तों एक दिन की बात है जब मेरे क्लास में कुछ लड़के थे जो अपने आप को कुछ ज्यादा ही स्मार्ट समझते थे और वो किसी न किसी लड़के से पंगा लिय ही करते थे | उस दिन की बात है की वो मुझे गाँव का गवांर समझ कर मुझे से भी पंगा कर दिया और मुझे वो 3 दिनों ही गन्दी गन्दी लगियां देने लगे तो मैं पहले तो उन्हें समझया की भाई यार गाली मत दो जो बात करनी है मुझेसे करो | मुंह है तो इसका मतलब ये तो नही है की तुम गाली से ही बात करोगे तो उसने से एक लड़का बोला हाँ गाली से बात करूँगा क्या करेगा रे मादरचोद तो मैंने उसे पकड़ कर टेबल में सर लड़ा दिया और उसके सर से खून निकलने लगा ये देखकर वो दोनों भी मुझे मारने के लिए आगे बढे तो मैंने उनको भी मार उस दिन मैंने उन तीनो लडको को मार और दो को तो ज्यादा ही मारा था तो उनके सर से खून निकलने लगा था तो उस दिन टीचर ने मुझे कॉलेज से निकालने को कहा तो कुछ लडको ने मेरा साथ दिया और कहा की सर राहुल की कोई गलती नही है ये लोग ही गाली दे रहे थे साथ में एक लडकी भी कह रही थी तो सर ने उन लडको का इलाज कराया और उन लडको के अपने मम्मी पापा को लाने को कहा |

उस दिन से मेरे दोस्त भी बन गए और एक लडकी भी मेरी दोस्त बन गयी | मैं आप लोगो को उस लड़की के बारे मे बता देता हूँ | उसका नाम हरमीत कौर था और वो एक सरदार थी | वो दिखने में सुन्दर थी और उसका फिगर तो जानलेवा था | उसके बड़े बड़े बूब्स और उसकी पतली कमर थी उसके सिवा उसकी गांड जो थी वो काफी बड़ी और गोल थी | वो मुझे किसी हुस्न की पारी से कम नही लगती थी | अब हम चार लोग दोस्त बन गए थे | अब हम चारो लोग कभी कभी साथ में घुमने भी जाते थे पर दोस्तों मैं हरमीत से प्यार करता था पर कहने को डरता था | एक दिन हरमीत ने मुझसे कहा की चलो यार मूवी देखने चलते हैं तो मैंने उससे कहा ठीक है उन लोगो को भी बुला लेता हूँ तो उसने कहा हमारे बीच उनका क्या काम नही हम दोनों ही चलेंगे | तब मैं और हरमीत मूवी देखने के लिए चले गए वहां बड़ी मुश्किल से टिकट मिला था और फिर हम दोनों लोग ही मूवी देखने चले गए | हम दोनों एक साथ में बैठ कर मूवी देख रहे थे और वो मेरे ऊपर सर रख कर देख रही थी जैसे मैं उसका पति या बॉयफ्रेंड हूँ | वो मेरे सीने पर अपने सर को रख कर देख रही थी | फिर 2 घन्टे के बाद मूवी भी ख़त्म हो गयी और हम भी बाहर आ रहे थे तो वो बोली रुको अभी चलते हैं सबको निकल जाने दो | फिर हम दोनों बैठे रहे और जब सब लोग निकल गए तो उसने मेरे सर को अपने दोनों हाथो से पकड कर मेरी होठो पर अपने होठ रख दिए | दोस्तों वो किस मेरे जीवन की सबसे पहली किस थी और मेरे शरीर में करंट सा लग गया था | वो मेरे सर को पकड कर ऐसे ही 3 मिनट तक मेरी होठो को चूसती रही पर मैं किस करने में साथ नही दे पा रहा था क्यूंकि मुझे समझ ही नही आ रहा था की मैं करूँ क्या | फिर उसने मेरी होठो पर से अपनी होठो को हटा लिया और मेरा हाथ पकड कर बाहर की और चल पड़ी | फिर हम बाहर आये और फिर मैं उसको छोड़कर कर अपने रूम में चला गया | दोस्तों मुझे अभी भी समझ नही आ रहा था की उसने मुझे किस किसलिए की है और फिर मैं सोच ही रहा था की उसका फ़ोन आ गया और उसने मुझे इ लव यू बोला और मुझे बहुत ख़ुशी हुई | फिर मैं उसके 9 दिन के बाद की बात है जब मैं उसको डेट पर ले गया और जब हम दोनों डेट से वापस आ रहे थे | तब मैंने उसे किस की और जब मैं उसकी होठो को चूस रहा था तो मेरा लंड पेंट में खड़ा हो गया था | उस दिन मुझे किस करने में बहुत मज़ा आया था | उसके 1 महीने के बाद की बात है जब मैं उसे अपने रूम पर चुपके से ले आया क्यूंकि मुझे रूम पर लड़की ले जाना माना था | फिर मैं उसके साथ बैठ कर बात करने लगा और फिर उसकी होठो पर अपनी होठो को रख कर उसकी होठो को चूसने लगा | वो भी मेरी होठो को चूस रही थी | मैं उसकी होठो को चूसने के साथ में अपने एक हाथ को उसके बूब्स पर ले गया और दबाने लगे | मैं उसके बूब्स को पहली बार दबा रहा था तो मुझे उसके बूब्स काफी बड़े लग रहे थे | फिर कुछ देर बाद मैंने उससे कपडे निकलने के लिए कहा तो उसने अपने कपड़े निकाल दिये और मेरे सामने ब्रा और पेंटी में आ गयी | मैं उसको ब्रा और पेंटी में देख कर पागल सा हो गया था और उसके बूब्स को अपने हाथ में पकड कर दबाने लगा | मैं उसके बूब्स को दबाते हुए उसकी ब्रा का हुक भी खोल दिया तो उसके मस्त चिकने बूब्स मेरे सामने आ गए | तब मैं उसके चिकने बूब्स क मुंह में रख कर चूसने लगा तो उसके मुंह से सेक्सी आवाज में आ आ आ आ…. अ अ अ अ.. ऊ ऊ ऊ ऊ ऊ.. हा हा हा.. ह ह ह ह.. माँ माँ माँ माँ.की आवाजे लेते हुई अपने दूध को चूसा रही थी | मैं उसके बूब्स के निप्पल को होठो से पकड कर खीच खीच कर चूस रहा था | वो ऊ ऊ ऊ ऊ….. अ अ अ अ…. आ आ आ आ आ… उई उई उई… की सिसिकियाँ लेती हुई चूसा रही थी | मैं उसके एक बूब्स को  हाथ में पकड कर उसके बूब्स के निप्पल को ऊँगली से घुमा घुमा कर चूसा रहा था | वो उई उह उह… उफ़ उफ़ उफ़… उई माँ माँ माँ… की सिसिकियाँ लेती हुई चूसा रही थी | मैं उसके बूब्स को ऐसे ही 7 – 8 मिनट तक चूसता रहा |

फिर अपने कपड़े निकल कर उसकी टांगो को फैला कर उसकी चूत में थूक लगा कर अपने लंड के टोपे पर थूक लगा कर उसकी चूत के ऊपर रगड़ने लगा तो वो ऊ ऊ ऊ ऊ.. आ आ आ आ… हम हम हम… हाँ हाँ हाँ.. माँ माँ माँ.. की सिसिकियाँ लेने लगी |  फिर मैंने उसकी चूत में एक ही धक्के में अपना आधा लंड उसकी चूत में घुसा दिया तो वो चीख पड़ी और उसकी चूत से खून निकल पड़ा था | फिर मैं कुछ देर तक उसकी चूत में धीरे धीरे अन्दर बाहर करता रहा और वो दर्द की वजह से कुछ भी नही बोल पा रही थी | उसके कुछ देर बाद वो भी मेरे साथ देती हुई चुदने लगी | मैं उसकी चूत में जोर जोर से अन्दर बाहर करते हुए उसको चोद रहा था | वो ऊ ऊ ऊ ऊ… ह ह ह ह ह… हाँ हाँ हाँ हाँ… हु हु हु… करती हुई चुद रही थी और साथ में अपने बूब्स के निप्पल को ऊँगली से मसल रही थी | मैं उसको ऐसे ही कुछ देर तक चोदता रहा फिर उसको घोड़ी बना कर उसकी चूत में पीछे से लंड को डाल कर जोरदार धक्को के साथ अन्दर बाहर करने लगा | वो मेरा साथ देती हुई अपनी चूत को आगे पीछे करती हुई चुदने लगी | फिर कुछ देर बाद उसने मुझे लंड को निकल को कहा तो मैंने उसकी चूत से अपने लंड को निकाल लिया और वो अपनी चूत को जोर जोर से हिलाने लगी और फिर उसकी चूत से पानी की धार निकल पड़ी और वो झड गयी | उसके बाद 15 मिनट की मस्त चुदाई के बाद मैं भी झड गया |

मुझे उम्मीद है की आप सभी लोगो को मेरी कहानी पढने में मज़ा आया होगा और पसंद तो जरुर आई होगी |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *