दो इंच की चूत में घुसे बड़े बड़े लौड़े

दो इंच की चूत में घुसे बड़े बड़े लौड़े

मेरे प्रिय पाठक कैसे हैं आप सभी | मेरा नाम संतोष है और मैं रामगढ़ का रहने वाला हूँ | मेरी उम्र 26 साल है | दिखने में भी अच्छा हूँ पर मैंने कभी चुदाई नहीं की थी कॉलेज तक | जब मेरी जॉब मुंबई में लगी तब जा कर मैंने एक भाभी को चोदा और उसकी ननद को भी | ये मेरी पहली कहानी है | मैं इस कहानी के माध्यम से अपनी चुदाई के बारे में बताने जा रहा हूँ | तो अब मैं कहानी पर आता हूँ बिना वक़्त बर्बाद करते हुए |

ये घटना दो साल पहली कि है जब मैं नया नया मुंबई आया था | मैंने मुंबई में एक घर में पी.जी में रहता था | जिसके घर में मैं रहता था उनके यहाँ सुरेश जो बिज़नस मैंन है | प्रियदर्शनी भाभी जो दिखने में एक दम सेक्स बम है | उनका फिगर आये हाय क्या फिगर है उनका | उसकी ननद शिखा रहती है |

भाभी के साथ मैं कुछ ही समय में घुल मिल गया था क्यूंकि भाभी बस घर में अकेली रहती थी | शिखा कॉलेज चले जाती थी | सुरेश भैया सुबह 8 बजे ही निकल जाते थे शिखा को ले कर | वो उसे कॉलेज ड्राप करके अपने ऑफिस चले जाते थे | मैं 12 बजे ऑफिस जाता था और फिर शाम को 8 बजे लौट के आता था |

मैं और भाभी खूब बाते किया करते थे और शिखा भी बात करती थी मुझसे पर कम क्यूंकि वो ज्यादातर अपने रूम में रह कर पढाई किया करती थी | मैं धीरे धीरे नोटिस करने लगा कि भाभी कुछ ज्यादा ही मुझसे डबल मीनिंग बात करने लगी थी | पर मैं कभी नहीं समझा था कि वो मुझसे चुदवाना चाहती थी | ऐसे दिन बीतते जा रहे थे और एक दिन कि बात है, मेरे ऑफिस की छुट्टी थी | तो मैं घर में ही था | घर में कोई नहीं था तो मैंने सोचा कि चलो भाभी के पास ही चला जाता हूँ | मैं भाभी के रूम की तरफ जैसे ही मैं गया तो मैंने देखा कि भाभी कपडे पहन रही है और अभी बस उन्होंने ब्रा और पेंटी पहना था | एक दम से मैं पीछे हटा तब तक भाभी ने मुझे देख लिया था | मैं उन्हें सॉरी बोलने लगा तो उन्होंने कहा की कोई बात नहीं संतोष आ जाओ अन्दर | मैंने कहा नही भाभी आप कपडे पहन लो मैं बाद में आ जाऊंगा | तो बोली रुको यहीं और अपनी ब्रा उतार दिया | तो मेरी आँख फट गयी और मैं उनके गोर गोर दूध घूर रहा था | वो समझ गयी थी मैं अब गरम हो गया हूँ तो उन्होंने मुझसे कहा कि इसको दबाओ न | तो मैंने उनके दूध दबाने लगा और वो अहहहः आआऊँ ऊनंह ऊनंह ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहहाआअ अहाआअ हहहाआअ अहहहा ऊउंह ऊम्म्म्ह ऊउम्म्म उऊंन्न अहहहाआअ आआहाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म्ह आहाआ हहाआअ करने लगी | दूध दबाते दबाते मैं उनके दूध पर किस करने लगा और फिर पीने लगा उनके दूध तो वो अहहहः आआऊँ ऊनंह ऊनंह ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहहाआअ अहाआअ हहहाआअ अहहहा ऊउंह ऊम्म्म्ह ऊउम्म्म उऊंन्न अहहहाआअ आआहाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म्ह आहाआ हहाआअ करने लगी | मैंने उनके दूध को 10 मिनट तक खूब चूसा | फिर उन्होंने अपनी पेंटी उतारी तो मैंने देखा कि उनकी चूत एक दम चिकनी है और गुलाबी है | वो अपनी टाँगे चौड़ी करते हुए लेट गयी |

मैं उनका इशारा समझ गया था और उनकी चूत में जीभ डाल कर चूत चाटने लगा था | भाभी मेरा सिर पकड़ अपनी चूत में दबाने लगी और अहहहः आआऊँ ऊनंह ऊनंह ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहहाआअ अहाआअ हहहाआअ अहहहा ऊउंह ऊम्म्म्ह ऊउम्म्म उऊंन्न अहहहाआअ आआहाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म्ह आहाआ हहाआअ कर रही थी | मैं उनकी चूत में अपनी जीभ घुमा घुमा कर खूब चूस और चाट रहा था और भाभी बस अहहहः आआऊँ ऊनंह ऊनंह ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहहाआअ अहाआअ हहहाआअ अहहहा ऊउंह ऊम्म्म्ह ऊउम्म्म उऊंन्न अहहहाआअ आआहाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म्ह आहाआ हहाआअ करते जा रही थी |

फिर भाभी ने मेरे कपडे उतार दिए और मेरा लंड पकड़ के चूसने लगी और जीभ से चाटने लगी | मैं अहहहः आआऊँ ऊनंह ऊनंह ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहहाआअ अहाआअ हहहाआअ अहहहा ऊउंह ऊम्म्म्ह ऊउम्म्म उऊंन्न अहहहाआअ आआहाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म्ह आहाआ हहाआअ करने लगा था | मुझे बहुत मजा आ रहा था जब भाभी मेरा जब लंड चूस रही थी | 10 मिनट तक उन्होंने मेरा लंड खूब अच्छे से चाटा और चूसा | फिर मैं उनकी टाँगे उठा कर अपने कंधे में रख लिया और अपना लंड उनकी चूत में पेल दिया और जोर जोर से चोदने लगा | २० मिनट उनकी चूत चोदने के बाद मैंने अपना माल उनकी चूत के ऊपर ही छोड़ दिया | अब मैं रोज ऑफिस जाने से पहले भाभी की चूत चोदने लगा |

ऐसे दिन बीतते जा रहे थे कि एक दिन शिखा ने मुझे अपने प्यार का इज़हार कर दिया | मैं भी उसे मना नहीं कर पाया | क्यूंकि वो दिखने में भी अच्छी थी भले ही उसके दूध छोटे छोटे थे | पर अच्छी थी वो | एक दिन मौका पा कर मैंने उसे अपने कमरे में बुला लिया और जैसे ही वो आई | तो मैं उसे पकड़ कर किस करने लगा और वो भी किस्सिंग में मेरा साथ देते हुए मेरे होंठो को चूस रही थी |

फिर मैंने उसका टॉप उतारा और उसके दूध पीने लगा ( उसने ब्रा नहीं पहनी थी ) और वो अहहहः आआऊँ ऊनंह ऊनंह ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहहाआअ अहाआअ हहहाआअ अहहहा ऊउंह ऊम्म्म्ह ऊउम्म्म उऊंन्न अहहहाआअ आआहाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म्ह आहाआ हहाआअ करने लगी | मैं उसके दूध जोर जोर से दबा दबा कर पीते जा रहा था और वो भी जोर जोर से अहहहः आआऊँ ऊनंह ऊनंह ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहहाआअ अहाआअ हहहाआअ अहहहा ऊउंह ऊम्म्म्ह ऊउम्म्म उऊंन्न अहहहाआअ आआहाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म्ह आहाआ हहाआअ कर रही थी | 15 मिनट तक मैंने उसके दूध को खूब चूसा | फिर मैंने अपना लंड निकाला और उसके हाँथ में पकड़ा दिया | अब वो मेरा लंड जोर जोर से हिला हिला के चूसने लगी और मैं अहहहः आआऊँ ऊनंह ऊनंह ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहहाआअ अहाआअ हहहाआअ अहहहा ऊउंह ऊम्म्म्ह ऊउम्म्म उऊंन्न अहहहाआअ आआहाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म्ह आहाआ हहाआअ कर रहा था | उसका मन लग गया था मेरा लंड पीने में और अलग ही नही हो रही थी | मैं भी उसे मना नही कर रहा था और अहहहः आआऊँ ऊनंह ऊनंह ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहहाआअ अहाआअ हहहाआअ अहहहा ऊउंह ऊम्म्म्ह ऊउम्म्म उऊंन्न अहहहाआअ आआहाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म्ह आहाआ हहाआअ सिस्कारिया भर रहा था | फिर जब उसने मेरा लंड छोड़ा तो मैंने उसे लेटा कर उसकी लेगी उतार दी और पेंटी भी | अब मैं उसकी छोटे छोटे झांटो वाली चूत को चाटने लगा और वो अहहहः आआऊँ ऊनंह ऊनंह ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहहाआअ अहाआअ हहहाआअ अहहहा ऊउंह ऊम्म्म्ह ऊउम्म्म उऊंन्न अहहहाआअ आआहाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म्ह आहाआ हहाआअ कर रही थी | 15 मिनट तक मैंने भी उसकी चूत खूब चाटा था | फिर मैं उसकी चूत में अपना लंड रगड़ते हुए एक ही धक्के में पूरा डाल दिया और चोदने लगा तो वो अहहहः आआऊँ ऊनंह ऊनंह ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहहाआअ अहाआअ हहहाआअ अहहहा ऊउंह ऊम्म्म्ह ऊउम्म्म उऊंन्न अहहहाआअ आआहाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म्ह आहाआ हहाआअ कर रही थी | वो मेरी चुदाई का आनंद ले रही थी | मैं भी मजे से उसकी चूत चोद रहा था और वो अहहहः आआऊँ ऊनंह ऊनंह ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहहाआअ अहाआअ हहहाआअ अहहहा ऊउंह ऊम्म्म्ह ऊउम्म्म उऊंन्न अहहहाआअ आआहाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म्ह आहाआ हहाआअ कर रही थी |

चुदाई के बाद मैंने अपना माल उसकी चूत के ऊपर ही गिरा दिया | फिर मैं उसकी गांड चाटने लगा तो उसने मुझसे पूछा कि ये क्या कर रहे हो तुम | तो मैंने कहा कि मुझे तुम्हारी गांड चोदना है | पहले तो वो तैयार नहीं हो रही थी पर मेरे बार बार मिन्नतें करने के बाद वो मान गयी थी | तब तक मेरा लंड भी खड़ा हो गया था और तन गया था | फिर मैंने उसकी गांड चाटा और फिर उसकी गांड चोदने लगा तो वो अहहहः आआऊँ ऊनंह ऊनंह ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहहाआअ अहाआअ हहहाआअ अहहहा ऊउंह ऊम्म्म्ह ऊउम्म्म उऊंन्न अहहहाआअ आआहाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म्ह आहाआ हहाआअ करने लगी | उसे भी गांड चुदवाने में बहुत मजा आ रहा था और कह रही थी और चोदो और चोदो | मैंने अपनी पूरी रफ़्तार बढ़ा दिया और जोर जोर से उसकी गांड चोदने लगा और वो अहहहः आआऊँ ऊनंह ऊनंह ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहहाआअ अहाआअ हहहाआअ अहहहा ऊउंह ऊम्म्म्ह ऊउम्म्म उऊंन्न अहहहाआअ आआहाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म्ह आहाआ हहाआअ कर रही थी | फिर मैंने अपना माल उसकी गांड में ही छोड़ दिया था |

अब मैं शिखा और भाभी को रोज चोदा करता हूँ | दोनों में से किसी को भी ये बात नहीं पता कि मैं दोनों कि चुदाई करता हूँ |

दोस्तों, ये थी मेरी कहानी कैसी लगी आप सभी को ? उम्मीद करता हूँ कि आप सभी को में ये कहानी पसंद आई होगी | और वादा करता हूँ ऐसी ही मजेदार कहानी लिखता रहूँगा और आप सभी का मनोरन्जन करता रहूँगा |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *